Uttar Pradesh

महिला सिपाही रुचि की हत्या से पुलिस में हड़कंप…कॉल डिटेल के आधार पर तहसीलदार गिरफ्तार


Ad
Ad
Ad
Ad

लखनऊ: पुलिस विभाग में इन दिनों हड़कंप मच गया है। पुलिस मुख्यालय में तैनात महिला कांस्टेबल रुचि की हत्या ने हर किसी को सकते में डाल दिया है। रुचि के लव मैरिज करने के बाद उससे नाराज चल रहे परिवार वालों को भी बड़ा झटका लगा है। फिलहाल तहसीलदार से प्रेम संबंध को इस हत्या से जोड़कर देखा जा रहा है।

दरअसल महावतपुर नजीबाबाद निवासी महिला सिपाही रुचि सिंह इन दिनों लखनऊ पुलिस मुख्यालय में तैनात थीं। एमडीकेवी नजीबाबाद से इंटर करने वाली रुचि ने साल 2019 में पुलिस में भर्ती के दौरान अपने परिवार के खिलाफ जाकर सिपाही नीरज सिंह से शादी की थी। जिसके बाद रुचि के पिता योगेंद्र चौहान समेत सभी मायके वालों ने उससे बातचीत बंद कर दी थी।

अब बीते 13 फरवरी को रुचि सिंह घर से ड्यूटी के लिए तो निकली मगर वह मुख्यालय नहीं पहुंची। रुचि के लापता होने और मोबाइल बंद आने के चलते पुलिस विभाग ने सुशांत गोल्फी थाने में उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई। तलाशबीन करने के बाद गुरुवार को पीजीआई स्थित नाले से रुचि का शव बरामद किया गया। जानकारी के अनुसार कॉल डिटेल के आधार पर एक बड़ा खुलासा भी हुआ है।

बताया जा रहा है कि कॉल डिटेल्स के जरिए प्रतापगढ़ जिले के रानीगंज में तैनात तहसीलदार पदमेश श्रीवास्तव से प्रेम संबंध का मामला सामने आया है। गौरतलब है कि रुचि की हत्या की खबर मिलने के बाद उसके छोटे भाई शुभम ने लखनऊ पहुंचकर उसका पोस्टमार्टम कराया। रुचि के पिता योगेंद्र चौहान, मां रानी देवी भी इस घटना से दुखी हैं। पिता का कहना है कि बेटी को प्रेमजाल में फंसाकर उसकी हत्या करने वाले तहसीलदार और सभी दोषियों को सजा दिलाकर ही उन्हें चैन पड़ेगा।

उल्लेखनीय है कि रुचि का अपने पति नीरज सिंह से भी विवाद चल रहा था। जानकारी के अनुसार रुचि सिंह की तहसीलदार पद्मेश से जान-पहचान फेसबुक के द्वारा हुई थी। जिसके बाद दोनों के बीच प्रेम संबंध बन गए। शव लेने लखनऊ पहुंचे रुचि के भाई शुभम ने जानकारी दी और बताया कि फिलहाल कॉल डिटेल को आधार मानकर पुलिस ने तहसीलदार को गिरफ्तार किया है।

Join-WhatsApp-Group
To Top