Pauri News

मन की बात में PM मोदी ने पौड़ी के सच्चिदानंद भारती की तारीफ की…



देहरादून: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रेडियो शो मन की बात में एक बार फिर उत्तराखंड निवासी का नाम लिया गया। इससे पहले भी पीएम अपने शो में उत्तराखंड की संस्कृति व लोगों के परिश्रम का जिक्र कर चुके हैं। सच्चिदानंद भारती की पहचान जल और जंगल के संरक्षण से है।

वह उत्तराखंड के पौड़ी जिले के गाडखर्क गांव के मूल निवासी हैं। पिछले 40 साल से वह जंगलों को बचाने का प्रयास कर रहे हैं। वह सेवानिवृत्त शिक्षक हैं। लंबे वक्त से इस कार्य से जुड़े सच्चिदानंद भारती जल, जंगल और जमीन के साथ प्रकृति हमारे जीवन का आधार है, इसके बिना जीवन की कल्पना नहीं है। मनुष्य को इसे बचाना चाहिए क्योंकि ये है तो हम सभी हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड क्रिकेट के आएंगे अच्छे दिन, बीसीसीआई 22 करोड़ रुपए इंफेस्ट करेगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मन की बात कार्यक्रम के दौरान जल और जंगल संरक्षण पर अपने विचार व्यक्त किए। इसी दौरान उन्होंने सच्चिदानंद भारती का परिचय दर्शकों से कराया और कार्यों की सराहना की।सच्चिदानंद भारती को जल और जंगल के संरक्षण के लिए जाना जाता है। वह कहते हैं कि इसे बचाना बेहद जरूरी है।

ये ईश्वर का तोहफा है और इस पर आने वाली पीढ़ी का भी अधिकार है। आज ये हमारी जिम्मेदारी है और कल किसी और की होगी। हम अपनी जिम्मेदारियों से भाग नहीं सकते हैं। उन्होंने 1989 में बीरोंखाल के उफ्रैंखाल में इस काम को शुरू किया। इसके तहत उन्होंने छोटे-छोटे चाल खाल बनाए। जिनमें बरसात के पानी का संरक्षण किया।

यह भी पढ़ें 👉  24 दिसंबर को हल्द्वानी में होगी पीएम मोदी की जनसभा, सीएम धामी ने खटीमा को दिया न्यौता

उन्होंने क्षेत्र में करीब 30 हजार से अधिक चाल-खाल बनाए। जिन्हें उन्होंने ‘जल तलैया’ नाम दिया। उसके आसपास बांज, बुरांस और उत्तीस के पेड़ों को लगाया। परिणाम यह हुआ कि 10 साल बाद सूखा गदेरा सदानीर नदी में बदल गया। जिसे उन्होंने ‘गाड गंगा’ नाम दिया। गदेरे में वर्तमान में लगातार पानी चल रहा है। उनका कहना है कि चाल-खाल के निर्माण से प्राकृतिक जल स्रोतों को पुर्नजीवित कर गंगा के अस्तित्व को बचाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  मूल जनपद में अतिथि शिक्षकों की होगी तैनाती,कैबिनेट के सभी फैसलों पर डाले नजर

उन्होंने बीते मार्च माह में नई दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में जल संरक्षण और संवर्द्धन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए नमामि गंगे और नीर फाउंडेशन की ओर से ‘रजत की बूंदें’ नेशनल वाटर अवॉर्ड 2021 से नवाजा गया था। अब वह भीषण वनाग्नि की घटनाओं से निजात पाने के लिए काम कर रहे हैं।

Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Ad
Ad

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top