Rajasthan

आयकर विभाग की कांग्रेस नेता संग 33 ठिकानों पर छापेमारी, दो को किया गिरफ्तार


जयपुर : राजनीति हो और उसमें भ्रष्टाचार ना हो यह बात भारत में हजम नहीं होती । साल में एक या दो नेता ऐसे जरूर सामने आ जाते हैं जो जनता का पैसा खाकर तोद फुलाए बैठे थे। इस बार आयकर विभाग ने गुरुवार को राजस्थान के श्री गंगानगर व जयपुर में 33 ठिकानों पर अचानक छापेमारी कर सभी भ्रष्टाचारियों को दहला दिया है । बहुत ही गुप्त तरीके से श्रीगंगानगर के नेता अशोक चांडक और जयपुर के बिल्डर रिद्धि सिद्धी पर छापेमारी की गई ।

चांडक शराब कारोबारी पोंटी चड्डा के साथ व्यपार में सहयोगी हैं । साथ ही चांडक के शराब , मेडिकल ,और जमीन सहीत कई कारोबार हैं । आय विभाग के अदधिकारियों को चांडक की आय और टैक्स रिटर्न की आमदनी में अंतर दिखई दिया है । अभी के लिए इस पर कुछ भी बताने से अधिकारियों ने मना कर दिया है । मुंबई आयकर विभाग की टीम से मिले इनपुट के आधार पर ही यहां छापेमारी की गई है।

बताया जा रहा है कि डायरेक्टर जनरल ऑफ जीएसटी इंटेलीजेंस की जयपुर टीम ने मिराज समूह के ठिकाने पर छापेमारी की कार्रवाई की। इस अचानक हुई कार्रवाई से समूह से जुड़ी अन्य कंपनियों की पैरो तले जमीन खिसक गई । डीजीजीआई टीम ने समूह के कार्यालयों से विभिन्न तरह के दस्तावेज पाए है । उन दस्तावेजों से करोड़ो की टैक्स चोरी का पता लगाया जा रहा है। अभी तक डीजीजीआई ने आठ सौ करोड़ रूपये के टैक्स चोरी की जानकारी साझा की है । टीम ने मिराज के उत्पादों की पैकेजिंग से जुड़ी कंपनियों पर भी कार्रवाई की है । इस से पहले भी यह टीम मार्च 2020 में समूह के उत्पादों के निर्माण और वितरण में पैनी नज़र बनाए हुए थी ।

आगे आपको बता दे कि श्रीगंगानगर के कांग्रेस नेता अशोक चांडक की पत्नी करूण श्रीगंगानगर परिषद की सभापति हैं । वहीं, सिद्धी समूह के मुकेश शाह जयपुर सहित कई शहरों में माल और फ्लैट्स का निर्माण करते हैं। माना जाता है कि शाह मुंबई के कारोबारी से संबंध रखता है । आगे डीजीजीआइ ने बताया कि कार्रवाई के दौरान मिराज ग्रुप से जुड़ी पैकेजिंग मैटेरियल सप्लाई करने वाली फर्मों के दो निदेशकों को गिरफ्तार किया है। डीजीजीआइ और मिराज समूह के प्रबंधकों ने यह नहीं बताया कि गिरफ्तार निदेशकों में कौन-कौन शामिल हैं। शायद इसका पता आगे होने वाली कार्रवाईयों से पता चलेगा ।

To Top