Uttarakhand News

पीएम मोदी और सीएम धामी की जुगलबंदी, इस मुस्कान में क्या खास है ?

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

नई दिल्ली: इसी साल हुए विधानसभा चुनाव में जब मुख्यमंत्री रहते हुए पुष्कर सिंह धामी को अपनी खटीमा सीट से हार मिली थी तो एक बड़े तबके का कहना था कि उनकी राजनीति अब खत्म हो जाएगी। मगर हार के बावजूद अगर पुष्कर सिंह धामी दोबारा सीएम बने तो इसका काफी श्रेय पीएम मोदी को जाता है। कहा जाता है कि पीएम मोदी सीएम धामी पर भरोसा करते हैं।

दोनों का आपसी तालमेल उनकी कई सारे तस्वीरों से भी पता लगता है। लाजमी है कि प्रधानमंत्री मोदी का देवभूमि उत्तराखंड से विशेष लगाव है। यही वजह भी है कि पर्वतीय राज्य के युवा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से उनकी अलग ही जुगलबंदी देखने को मिलती है। पीएम मोदी की उत्तराखंड के विकास को लेकर गंभीरता इस बात का सबसे बड़ा कारण है कि सीएम धामी के साथ उनकी मुलाकात कभी छोटी नहीं होती।

इस बार भी सीएम धामी से उन्होंने करीब एक घंटे तक चर्चा की। सीएम धामी ने उन्हें मसूरी में हुए चिंतन शिविर के अलावा माना में प्रस्तावित की गई उत्तराखंड मंत्रिमंडल की बैठक के बारे में विस्तार से जानकारी दी। बैठक के बाद मुख्यमंत्री धामी ने प्रधानमंत्री मोदी के ही द्वारा दिये गए वोकल फॉर लोकल के मंत्र के अनूरूप उन्हें कंडाली के रेशों से बना एक शॉल भी भेंट किया।

यह भी पढ़ें 👉  ये तो कमाल हो गया, रणजी ट्रॉफी में उत्तराखंड के ओपनर अवनीश सुधा ने झटके 6 विकेट

इसी दौरान की एक फोटो भी लगातार सुर्खियों में बनी हुई है। दरअसल, जब सीएम धामी उन्हें यह शॉल पहना रहे थे तो प्रधानमंत्री के चेहरे पर आई मुस्कुराहट ने काफी कुछ बयान किया। एक तरफ तो ये कहा जा रहा था कि सीएम धामी की शायद जल्द ही मुख्यमंत्री पद से छुट्टी हो सकती है। वहीं, अब इस एक फोटो ने उनके सभी आलोचकों को इशारों ही इशारों में बड़ा इशारा कर दिया है। पीएम मोदी की मुस्कान में सीएम धामी पर उनका भरोसा साफ दिखाई दिया।

To Top