Uttarakhand News

हल्द्वानी से दिल्ली जाने वाली रोडवेज बसों को लेकर बड़ा फैसला, अब यहां पर नहीं रुकेगी


यात्रियों की संख्या बढ़ने पर हल्द्वानी डिपो से एक दिन में संचालित हुईं 55 बसें

हल्द्वानी: शहर से दिल्ली के लिए चलने वाली बसों को लेकर बड़ा फैसला लिया गया है। यहां की बसें अब सिविल लाइन थाने में नहीं रुकेंगी। पिछले दिनों 20 बसों का चालन कटा है जो कि चालकों से वसूला गया है। इसके बाद रामपुर सिविल लाइन थाने के इलाके के लिए अधिकारियों द्वारा नो स्टाप का आदेश जारी कर दिया है।

Ad

हल्द्वानी व अन्य डिपो से चलने वाली उत्तराखंड रोडवेज की बसें रामपुर सिविल लाइन थाने के पास सवारी मिलने की उम्मीद से रुकती थी। यहां पर यात्रियों की भीड़ भी दिखती थी लेकिन पुलिस ने इस क्षेत्र में सख्ती दिखाना शुरू कर दिया है। बसों के रुकने की वजह से जाम लगता है और ऐसे में पुलिस ने गाड़ियों के नंबर नोट कर ऑनलाइन चालान काटे जो डिपो पहुंचे तो चालकों को उसका भुगतान करना पड़ा। इस बात से चालक की नाराज थे कि उनकी जेब से भुगतान किया गया है।

चालान से बचने के लिए इस एरिया में उत्तराखंड रोडवेज की बस नहीं रुकेगी। एआरएम हल्द्वानी सुरेंद्र सिंह बिष्ट ने सिविल लाइन थाने के आसपास बस न रोकने के आदेश चस्पा करवा दिए हैं। ऐसे में ये जानकारी यात्रियों के लिए अहम है जो सिविल लाइन थाने में बस का इंतजार करते हैं।

पिछले दो साल से महामारी के चलते रोडवेज को करोड़ों का नुकसान उठाना पड़ा रहा है। हालांकि रोडवेज अब नई रणनीति के साथ बसों का संचालन कर रहा है। खासकर यात्रियों की मांग को विशेष प्राथमिकता दी जा रही है। फिलहाल हल्द्वानी डिपो को रोजाना टिकट से दस लाख रुपये मिल रहे हैं। आम तौर पर श्राद के दिनों में कमाई कम होती है लेकिन इस बार हालात सामान्य है।

To Top