Nainital-Haldwani News

नैनीताल निवासी शैलजा पांडे बनीं IAS ऑफिसर, UPSC में हासिल हुई 61वीं रैंक, आप भी बधाई दें



हल्द्वानी: नैनीताल जिले से देश को एक और आईएएस ऑफिसर मिल गया है। संघ लोक सेवा आयोग की सिविल परीक्षा के नतीजे राज्य के लिए खुशियां लाए हैं। इस परीक्षा में उत्तराखंड के होनहार बच्चों को कामयाबी मिली है। नैनीताल की रहने वाली शैलजा पांडे ने यूपीएससी में 61वीं रैंक हासिल की है। उन्होंने हाईस्कूल और इंटर में जिला टॉप किया था। शैलजा पांडे के पिता दीप चंद्र पांडे ऊर्जा निगम के मुख्य अभियंता हैं तो वहीं मां डॉक्टर शोभा पांडे बीडी पांडेय अस्पताल नैनीताल में सेवा दे रही हैं। मौजूदा वक्त में शैलजा इंडियन ऑडिट एंड अकाउंट सर्विस (आईएएएस) की अहमदाबाद में ट्रेनिंग ले रही हैं। मूल रूप से मझेड़ा (प्रेमपुर) गरमपानी निवासी शैलजा का परिवार वर्तमान में लोअर डांडा कंपाउंड जू रोड नैनीताल में रहता है।

Ad

उनकी कामयाबी के बाद नैनीताल में हर्ष का माहौल है। उनके परिवार को बधाइयां मिल रही है। शैलजा की कामयाबी के बारे में उनके पिता ने जानकारी दी। उन्होंने बताया कि स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद शैलजा ने एनआईटी हमीरपुर से इलेक्ट्रिक एंड इलेक्ट्रानिक्स में इंजीनियरिंग किया। इसके बाद उनका चयन इंडियन ऑडिट एंड अकाउंट सर्विस में हुआ और वह अहमदाबाद में प्रशिक्षण ले रही हैं। शैलजा ने सेंटमेरी कान्वेंट स्कूल नैनीताल से 2011 में हाईस्कूल और 2013 में इंटरमीडिएट किया। दोनों में वह जिला टॉपर रही थी। 

यह भी पढ़ें 👉  कांग्रेस ने यशपाल आर्य और संजीव आर्य को दिया टिकट, रामनगर- लालकुआं का इंतजार बढ़ा

अपनी कामयाबी का श्रेय शैलजा ने लगन, मेहनत, अनुशासन, आत्मविश्वास को दिया। उन्होंने कहा कि अगर आप किसी प्रतियोगिता की तैयारी कर रहे हो तो आत्मविश्वास होना बेहद जरूरी है। यह आपकों फोक्स रखने में मदद करता है। एक रणनीति के साथ पढ़ाई होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि इन सभी चीज रूटीन के साथ होनी चाहिए, जिसका पालन सख्ती के साथ हो। बता दें कि इससे पहले शैलजा ने साल 2019 में आईएएस में 266 रैंक हासिल की थी। वह अपने प्रदर्शन से संतुष्ट नहीं थी और उन्होंने दोबारा प्रयास किया, जिसका नतीजा हर किसी के सामने है।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी सफलता...नैनीताल पुलिस ने पकड़ी कॉर्बेट में सप्लाई होने वाली 60 लाख की हेरोइन व स्मैक

To Top