Viral

सम्यक जैन ने हादसे में खोई आंखें, मां के सपोर्ट से बेटा IAS बन गया…भावुक कर देगी कहानी

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

नई दिल्ली: देश की सबसे कठिन परीक्षा मानी जाने वाली यूपीएससी परीक्षा में अभ्यर्थियों की कहानियां समाज के लिए भी प्रेरणा बनने का काम करती हैं। इसी कड़ी में UPSC 2021 Topper आईएएस ऑफिसर सम्यक जैन की कहानी भी तमाम मुश्किलों से भरी है। सम्यक ने परीक्षा में 7वीं रैक हासिल की थी मगर उनकी मां के बिना ये उपलब्धि पाना आसान नहीं था।

दिल्ली के एक संपन्न परिवार से आने वाले सम्यक के माता-पिता दोनों AIR India में काम करते हैं। चूंकि सम्यक के पिता पैरिस में तैनात हैं इसलिए सम्यक अपनी मां के साथ रहते हैं। स्कूली शिक्षा पूरी होने के बाद सम्यक ने दिल्ली यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया। कॉलेज में एक बड़े हादसे में केवल 20 साल की उम्र में सम्यक की आंखों की रौशनी कम होने लगी।

थोड़े समय बाद सम्यक को सब दिखना बंद हो गया। मगर केवल उनका हौसला ही था, जो कभी भी नहीं डिगा। इसके बाद सम्यक ने दिल्ली के IIMC से आगे की पढ़ाई की और जेएनयू से इंटरनेशनल रिलेशन में मास्टर्स की डिग्री भी हासिल कर ली। यूपीएससी की तैयारी की तो दिक्कतें आई। मगर इस समय उनकी मां ने हिम्मत दिखाते हुए रास्ता बनाया।

सम्यक ने बताया कि यूपीएससी के नियमों के मुताबिक परीक्षा में उन्हें उत्तर लिखने के लिए लेखक की आवश्यकता थी और यह आवश्यकता सम्यक की मां वंदना जैन ने पूरी की। हुआ ये कि सम्यक ने प्रश्नों के उत्तर बोले और मां ने उत्तरों को कॉपी में लिखा। हालांकि, पहली बार में असफलता मिली। मगर लॉकडाउन के दौरान ऑडियो बुक से पढ़ाई की सम्यक ने पूरे देश में 7वीं रैंक पाई। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय परिवार और दोस्तों को दिया है।

To Top