Uttarakhand News

डॉक्टर ने खत्म की जीवनलीला, एम्स ऋषिकेश हॉस्टल में इंजेक्शन भी मिले



देहरादून: राज्य में आत्महत्या के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। रोजाना इस तरह के मामले रोज सामने आ रहे हैं। ताजा मामला ऋषिकेश एम्स से जुड़ा है। एम्स हॉस्पिटल ऋषिकेश के हॉस्टल में एक रूम में डॉक्टर ने आत्महत्या कर ली है। लॉ ऑफिसर प्रदीप पांडे से सूचना प्राप्त होने के बाद प्रभारी निरीक्षक ऋषिकेश मय फ़ोर्स एम्स हॉस्पिटल ऋषिकेश पहुंचे। ऋषिकेश के हॉस्टल के रूम में डॉक्टर शिवानंद बौन पुत्र बचकान्त बौन का शव हॉस्पिल प्रशासन को बरामद हुआ । वह 28/8527 गंगा कॉलोनी बसवाकल्याण जिला बिदार कर्नाटक के रहने वाले थे। मौजूदा वक्त में जूनियर रेजिडेंट एम्स हॉस्पिटल ऋषिकेश में रह रहे थे।पुलिस फोर्स के पहुंचने से पहले ही एम्स ने डॉक्टर के शव को मोर्चरी में रखवा दिया था मृतक एम्स ऋषिकेश में एमबीबीएस पीजी कोर्स के छात्र थे। पुलिस टीम ने डॉक्टर के कमरे का निरीक्षण किया तो कुछ दवाइयां व इंजेक्शन मिले है जिन्हें कब्जे में ले लिया गया है। शव का पंचायत नामा भर पोस्टमार्टम की कार्रवाई की जा रही है| मृत्यु संबंधी कारणों की जांच एवं अग्रिम आवश्यक कार्यवाही जारी है। राज्य में पिछले कुछ वक्त में आत्महत्या के मामले में बढोतरी हुई है। अधिकतर मौकों पर तनाव आत्महत्या का कारण रहा है। युवाओं को लेकर सामने आ रहे ये मामले अच्छे संकेत नहीं दे रहे हैं।

Ad

To Top