Pithoragarh News

उत्तराखंड के ऐसे विधायक से मिलिए, जिनके बेटे लगाते हैं गाड़ियों का पंचर


Ad
Ad

पिथौरागढ़: विधानसभा चुनाव होते हैं तो राजनीति से जुड़ी तो कई कहानियां बनती ही हैं। लेकिन इन चुनावों में राजनीति से परे भी ढेर सारी कहानियां निकल कर आती हैं। एक ऐसी ही कहानी पिथौरागढ़ जिले के गंगोलीहाट निवासी जगदीश राम टम्टा की है। जगदीश राम गाड़ियों में पंचर लगाते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि जगदीश राम टम्टा के पिता फकीर राम टम्टा हैं, जो इस बार गंगोलीहाट से जीतकर विधायक बने हैं।

Ad
Ad

जी हां, गंगोलीहाट से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़े फकीर राम टम्टा के बेटे गाड़ियों में पंचर लगाते हैं। पहले विधायक फकीर राम टम्टा की बात करें तो वह खुद पहले अपना घर चलाने के लिए कारपेंटर का काम किया करते थे। लेकिन बाद में उन्होंने समाज सेवा के साथ साथ राजनीति में आना ठीक समझा। अब 2022 के विधानसभा चुनावों में उन्हें बीजेपी ने टिकट दिया और जनता ने उन पर भरोसा कर जीत दिला दी।

नेता, विधायक खूब पैसे वाले होते हैं, अमूमन तौर पर यही देखा और माना जाता है। लेकिन फकीर राम टम्टा की सादगी की तरह ही उनके बड़े बेटे जगदीश राम भी आसान जीवन जीने में विश्वास रखते हैं। जगदीश राम पिछले 12 सालों से पंचर बनाने का काम कर रहे हैं। फकीर राम टम्टा का छोटा बेटा वीरेंद्र कुमार भी फर्नीचर का काम करता है। बड़े बेटे जगदीश ने बताया कि उसे अपने काम पर किसी भी तरह की शर्मिंदगी कभी महसूस नहीं होती।

गंगोलीहाट के विधायक बने फकीर राम टम्टा का परिवार नैनीताल जिले के कालाढूंगी में रहता है। पिता के चुनाव जीतने पर दोनों बेटे बहुत खुश हैं। क्षेत्रीय लोगों का भी मानना है कि फकीर राम ने विधायक बनने तक का सफर अपने व्यवहार, सादगी के साथ ही तय किया है। गौरतलब है कि इससे पहले भी फकीर राम टम्टा ने दो बार टिकट मांगा था लेकिन उन्हें तब भाजपा ने टिकट नही दिया। इस बार भाजपा ने उनपर भरोसा जताया तो जीत भी मिल गई।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top