Nainital-Haldwani News

दिल्ली से हल्द्वानी आ रही रोडवेज बस का हुआ एक्सीडेंट, ट्रैक्टर चालक की मौके पर मौत


दिल्ली से हल्द्वानी आ रही रोडवेज बस का हुआ एक्सीडेंट, ट्रैक्टर चालक की मौके पर मौत

हल्द्वानी: काठगोदाम डिपो की रोडवेज बस का एक्सीडेंट हो गया है। बस और ट्रैक्टर की टक्कर में ट्रैक्टर ट्रॉली के चालक की मौके पर ही मौक हो गई। दरअसल काठगोदाम डिपो की वाहन संख्या UK07PA2840 मुरादाबाद बाईपास पर दुर्घटना ग्रस्त हो गया। बता दें कि काठगोदाम डिपो की यह बस देर रात दिल्ली से हल्द्वानी के लिए आ रही थी।

Ad

बताया जा रहा है कि सुबह करीब 5.15 बजे मुरादाबाद बाईपास पर हल्के कोहरे में बस लकड़ी ले जा रही टैक्टर ट्राली से टकराई। जिस कारण बस के अंदर चीख पुकार मच गई। हादसे में टैक्टर ट्राली के चालक की मौके पर मौत हो गई। इस दुर्घटना के बाद मुरादाबाद बाईपास पर लम्बा जाम लग गया। करीब 45 मिनट बाद पुलिस और नेशनल हाईवे टोल प्लाजा की टीम मौके पर एम्बुलेंस लेकर पहुंची।

यह भी पढ़ें 👉  CM धामी के सामने बड़ी चुनौती...कोश्यारी के बाद कोई भी नेता मुख्यमंत्री रहते नहीं जीता चुनाव

जानकारी के अनुसार काठगोदाम डिपो के चालक देवेंद्र सिंह दुर्घटना में बस के अंदर ही फंस गए थे। काफी देर में चालक को बस से निकल कर जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। उन्हें पैर में गंभीर चोट आई हैं। इसके अलावा एक महिला यात्री समेत कुछ यात्रियों को चोट लगी थी। उन्हें भी तत्काल चिकित्सा उपचार के लिए जिला अस्पताल भेज दिया।

यह भी पढ़ें 👉  ज़बरदस्त: नैनीताल पुलिस ने रिकवर किए चोरी व गुम हुए 23 लाख रुपए के मोबाइल

जबकि बस के अन्य यात्रियों को दूसरी बस से हल्द्वानी-रुद्रपर के लिए रवाना किया गया। बताया जा रहा है कि बस में करीब 20 यात्री सवार थे। यात्रियों की मानें तो अधिक कोहरे के कारण ये दुर्घटना हुई है। यात्रियों में एक चोटिल यात्री अपने मित्र के साथ नए साल का जश्न मनाने नैनीताल जा रहा था। लेकिन उसका जश्न फीका पड़ गया और उस यात्री ने वापस अपने घर दिल्ली जाने का फैसला कर लिया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: कांग्रेस के हुए हरक सिंह रावत और अनुकृति गोसाईं

बहरहाल अब बसों के मेंटिनेंस पर सवाल उठ रहे हैं। मिली जानकारी के मुताबिक उत्तराखंड परिवहन निगम के काठगोदाम डिपो की यह बस काफी समय से डिपो में मेंटिनेंस के लिये खड़ी थी। इसको कल ही दिल्ली भेजा गया था। लेकिन आने में ये बस दुघर्टना ग्रस्त हो गई। कर्मचारी संगठनों ने मामले की निष्पक्ष जांच करने की मांग की है।

To Top