Nainital-Haldwani News

हल्द्वानी में झगड़ा, गुरुग्राम में बदला, रोडवेज कर्मियों की लड़ाई में बुरे फंसे यात्री

Ad
Ad
Ad
Ad

हल्द्वानी: ऐसे विवाद अक्सर खराब होते हैं, जिनमें दो लोगों की लड़ाई में तीसरा पिस जाए। इस बार ऐसा ही एक मामला आया है। मामला रोडवेज से जुड़ा है। हल्द्वानी में हुए एक मामूली विवाद से गुरुग्राम के यात्री ऐसे भड़के कि उन्होंने उत्तराखंड के यात्रियों को भारी परेशानी में डाल दिया। बसों को बस अड्डे के अंदर नहीं जाने दिया। बाद में रोडवेज मुख्यालय ने बीच बचान कर मामला शांत कराया।

लाजमी है कि हल्द्वानी से विभिन्न राज्यों के काफी बड़े शहरों के लिए रोडवेज बसों का संचालन होता है। दूसरे राज्यों की बसें भी यहां आती रहती हैं। मगर बुधवार सुबह हरियाणा रोडवेज के कर्मियों से विवाद हो गया। गुरुग्राम डिपो की बस के हल्द्वानी आने पर यहां के कर्मचारी ने चालक से बस स्टेशन के अंदर लाने को कहा। ऐसा इसलिए क्योंकि हल्द्वानी में बस अड्डे के बाहर अधिकतर जाम लगता है।

मगर गुरुग्राम डिपो के चालक और यहां के कर्मी के बीच अचानत विवाद पैदा हो गया। चालक-परिचालक ने गुरुग्राम डिपो में कॉल कर बताया तो वहां उत्तराखंड रोडवेज बसों की श्यामत आ गई। डिपो में हल्द्वानी, काठगोदाम, लोहाघाट, टनकपुर, देहरादून आदि डिपो की 8-10 बसों की एंट्री ही बैन कर दी गई। यात्रियों को सामान लेकर बाहर उतरना पड़ा और उन्हें भारी परेशानी हुई।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः मायके से लौट रही महिला संग हुआ हादसा, मां की मौत, बेटा लापता

हालांकि, बाद में यह जानकारी देहरादून स्थित रोडवेज मुख्यालय पहुंची तो विवाद खत्म करने के लिए उत्तराखंड परिवहन निगम के अधिकारियों ने कसरत शुरू की। बातचीत कर मामले का निपटारा हुआ। इस बारे में हल्द्वानी डिपो के एआरएम सुरेंद्र सिंह बिष्ट का कहना है कि यहां किसी बस या चालक-परिचालक को परेशान नहीं किया जाता। कोई परेशानी होने पर चालक-परिचालक सीधा उनसे संपर्क करें तो बेहतर है।

Join-WhatsApp-Group
Ad
To Top