Uttarakhand News

सीएनजी बसें चलाना चाहता है उत्तराखंड रोडवेज, दिल्ली में एक अक्टूबर से बंद हो जाएगा संचालन !

तो CNG लग जाने से नहीं बढ़ेगा उत्तराखंड रोडवेज बसों का किराया! काठगोदाम में पंप खोलने की तैयारी
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून: दिल्ली सरकार ने बसों के संचालन के लिए नई गाइडलाइन जारी की है। बीएस-6 बसों को ही दिल्ली में एंट्री मिलेगी और ऐसे में उत्तराखंड परिवहन निगम का सिर दर्द बढ़ गया है। निगम ने बीएस 6 बसों अनुबंधित करने हेतु टेंडर निकाले हैं लेकिन किसी ने रूचि नहीं दिखाई है।

इससे पहले निगम ने CNG बसों के लिए भी टेंडर निकाले थे लेकिन ज्यादा लोगों ने रूचि नहीं ली। अब निगम ने दोबारा टेंडर निकाले हैं। दिल्ली सरकार ने एक अक्तूबर से डीजल वाहनों का प्रवेश पूरी तरह रोकने का निर्णय लिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सीएनजी बसों के लिए रोडवेज प्रशासन 11 से 12 रुपये प्रति किमी का रेट तय करना चाहता है जबकि बस ऑपरेटर 15 रुपये प्रति किमी मांग रहे हैं। इसलिए टेंडर में सिर्फ 50 बसों के स्वामियों ने रूचि दिखाई लेकिन रोडवेज को 200 बसों की आवश्यकता है।

यह भी पढ़ें 👉  गौलापार वेंडी स्कूल में मनाया गया गणतंत्र दिवस

अगर सीएनजी बस नहीं मिलती है तो निगम प्रशासन 150 नई बसें खरीदने का फैसला कर सकता है।  भी विचार कर रहा है। कोरोना वायरस के बाद से रोडवेज अपनी आर्थिक स्थिति को मजूबत करने की तरफ बढ़ तो रहा लेकिन पुरानी बसे उसका सिर दर्द बढ़ा रही है।  वित्तीय वर्ष 2021-22 में परिवहन निगम को 74. 90 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है।

To Top