भविष्य में चारधाम यात्रा पर विचार किया जायेगा, पहले कोरोना से निपटना जरूरी:सतपाल महाराज

देहरादून: कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश सरकार की ओर से चारधाम यात्रा को स्थगित कर दिया गया है। हालांकि धामों के कपाट निर्धारित समय पर ही खुलेंगे और तीर्थ पुरोहित मंदिरों में नियमित रूप से पूजा अर्चना करेंगे। चारधाम यात्रा प्रदेश के लाखों लोगों के रोजगार और आजीविका का साधन हैं। जिसको ध्यान में रखते हुए पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने अधिकारियों संग समीक्षा बैठक करते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों के अनुसार ही भविष्य में चारधाम यात्रा पर विचार किया जायेगा।

अधिकारियों संग गुरुवार को वर्चुअल बैठक करते हुए पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर को निर्देश देते हुए कहा कि जिलाधिकारियों से इनपुट प्राप्त कर सुरक्षा के पुख्ते इंतजाम किए जाए और सरकार की ओर से जारी होने वाली कोरोना गाइडलाइन का पालन किया जाये। पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने कहा कि इस संबंध में सभी जिलाधिकारियों के साथ बैठक कर इनपुट तैयार कर लिया जाएगा। साथ ही मंत्री महाराज ने जिलाधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वह अपने जिले में कोरोना की बीमारी को फैलने से रोकने के लिए हर संभव कार्य करें।

मुख्य कार्यकारी अधिकारी देवस्थानम बोर्ड/आयुक्त गढ़वाल रविनाथ रमन ने कहा कि चारधाम यात्रा स्थगित कर दी गयी है। लाखों श्रद्धालुओं की आस्था के केंद्र चारधाम यात्रा को लेकर गहन मंथन के बाद यह फैसला लिया गया है। किन्तु चारों धामों के कपाट निर्धारित तिथि पर ही खुलेंगे। राज्य सरकार द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार चारधाम यात्रा पर विचार करने के साथ ही श्रद्धालुओं के लिए उचित व्यवस्था की जायेगी।

बैठक में पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों के अनुसार भविष्य में चारधाम यात्रा के विचार पर जिला प्रशासन की ओर से की जाने वाली तैयारियों की भी जानकारी ली। जिस पर जिलाधिकारियों ने कहा कि भविष्य में चारधाम यात्रा के विचार पर सोशल डिस्टेंस, मास्क, सैनिटाइजर और थर्मल स्क्रीनिंग के साथ टीकाकरण पर भी विशेष ध्यान दिया जाएगा। सुरक्षित ढंग से यात्रा को संचालित करने के लिए सरकार की ओर से जारी होने वाली गाइडलाइन का सख्ती से पालन किया जाएगा। मंत्री महाराज ने निर्देश देते हुए कहा कि सभी 108 एम्बुलेंस में 24 घंटें ऑक्सीजन की सप्लाई सुनिश्चित की जाए। साथ ही जिलों में ऑक्सीजन, वेंटिलेटर, आईसीयू बेड और दवाईयां पर्याप्त मात्रा में होना सुनिश्चित करें।

वर्चुअल बैठक में जिलाधिकारियों ने कहा कि चारधाम यात्रा स्थगित होने से छोटे व्यापारियों के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो जाएगा। ऐसे में सरकार की ओर से छोटे व्यापारियों की मदद की जानी चाहिए। जिस पर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि इस संबंध में माननीय मुख्यमंत्री से वार्ता कर सकारात्मक विचार किया जाएगा।

बैठक में अपर सचिव पर्यटन जुगल किशोर पंत, बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी बीडी सिंह, डीआईजी गढ़वाल रेंज निरू गर्ग, जिलाधिकारी चमोली श्रीमती स्वाती भदोरिया, जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग मनुज गोयल, जिलाधिकारी उत्तरकाशी मयूर दिक्षित, पुलिस अधीक्षक उत्तरकाशी मणिकान्त मिश्र, पुलिस अधीक्षक चमोली जशवन्त सिंह चैहान, पुलिस अधीक्षक रुद्रप्रयाग नवनीत, पर्यटन अपर निदेशक विवेक चौहान, अपर निदेशक पूनम चंद, उपनिदेशक योगेन्द्र सिंह गंगवार, रिसर्च ऑफिसर एसएस सामंत वर्चुवल रूप से उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *