उत्तराखंड में साढ़े छह लाख उपभोक्ताओं का राशन कार्ड बंद,नैनीताल जिले का आंकड़ा देखें

0
861

नैनीताल:राज्य में साढ़े छह लाख उपभोक्ताओं का राशन कार्ड बंद हो गया है। जिन लोगों का राशन कार्ड आधार कार्ड से लिंक नहीं था उसे खाद्य आपूर्ति विभाग ने पोर्टल से हटा दिया है। उत्तराखंड में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत प्रदेश में 62 लाख यूनिटें हैं। इनमें से 55.50 लाख उपभोक्ताओं ने ही अपने राशन कार्ड को आधार से लिंक कराया था।

आधार कार्ड लिंक ना होने वाले ग्राहकों को पोर्टल से हटाने के आदेश खाद्य सचिव ने पूर्ति विभाग को दिया था। नैनीताल जिले में 60 हजार यूनिटें हटाई गईं हैं।अब इन यूनिटों पर राशन नहीं मिलेगा। इसके अलावा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना में आधार अपडेट ना होने के वजह से केंद्र सरकार ने राज्य सरकार की 300 करोड़ रुपये की सब्सिडी को रोक दिया है।

एक राहत की बात ये है कि जिन यूनिटों को हटाया गया है उनके पास फरवरी तक का वक्त हैं। फरवरी तक ये उपभोक्ता राशन कार्ड में आधार अपडेट करा सकते हैं।  बता दें कि केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को राष्ट्रीय खाद्य योजना के तहत 62 लाख यूनिटों का टारगेट दिया है। सभी जिलों के डीएसओ ने राज्य सरकार से रियायत मांगी है कि राज्य में कई ऐसे उपभोक्ता हैं, जो दिव्यांग हैं।

ऐसे व्यक्तियों का आधार कार्ड नहीं बन सकता है, इसलिए ऐसे यूनिटों के राशन पर रोक ना लगें। बता दें कि लंबे वक्त से राशन कार्ड में आधार लिंक कराने की प्रक्रियां चल रही है। इसके अलावा लोगों की सालना सैलेरी भी देखी जा रही है। कई ऐसे लोग भी हैं जो अधिक सैलेरी होने के बाद भी राशन कार्ड के जरिए राशन ले रहे हैं जो गरीबों के हक का है। चैकिंग में ऐसे ग्राहकों के कार्ड को निरस्त किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here