Uttarakhand News

नैनीताल ओखलकांडा में सात दशक पुरानी रामलीला शुरू, ग्रामीण करते हैं पात्रों की रहने खाने की व्यवस्था


नैनीताल: नैनीताल जिले विकासखंड ओखलकांडा के ग्राम सभा पतलोट मटेला पोखरी भद्ररेठा में विगत 76 वर्षों से रामलीला का मंचन किया जा रहा है। रावण कुंभकरण को जगाया गांव की रामलीलाओं में ग्रामीणों द्वारा नाली से आटा चावल दाल अन्नदान दान भी किया जाता है जिससे अभिनय करने वाले पात्रों एवं बाहर से आए हुए मेहमानों को भोजन कराया जाता है। पहले चीड़ के छिलके एवं मिट्टी तेल के गैस द्वारा रामलीला का मंचन होता था।

पूरे देश में नवरात्रि (Navratri 2023) की धूम के साथ ही पहाड़ों में इन दिनों रामलीला का दौर भी शुरू हो गया है, जो यहां सदियों से पहाड़ के लोगों का मुख्य मनोरंजन के साथ ही धार्मिक आस्था का केंद्र बनी हुई है. पिथौरागढ़ के साथ ही कुमाऊं के अन्य जिलों में भी शारदीय नवरात्रि के साथ जगह-जगह रामलीला (Ramlila 2023) का आयोजन भी शुरू जो जाता है, जो नवंबर महीने के अंत तक रहता है

To Top