Uttarakhand News

उत्तराखंड के लिए मील का पत्थर साबित होगा इंवेस्टर समिट

देहरादून: भाजपा प्रदेश प्रवक्ता हेमंत द्विवेदी ने बताया कि यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में लोकप्रिय मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह के नेतृत्व में उत्तराखंड चहुंमुखी विकास की ओर बढ़ रहा है। धामी सरकार की प्राथमिकता में राज्य में स्वास्थ्य, शिक्षा, पर्यटन और रोजगार है, जिसको लेकर तेजी से कार्य किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि धामी कैबिनेट बैठक में 14 मुद्दों पर चर्चा की गई। उत्तरकाशी की सिलक्यारा टनल, 38वें राष्ट्रीय खेल और तीन राज्यों में बम्फर जीत को लेकर यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद प्रस्ताव के साथ ही नई नीतियों को हरी झंडी मिली है। जिसमें नंदादेवी कन्या धन योजना में छूटे 35388 लाभार्थी को भी योजना के अंतर्गत लाने को हरी झंडी, परिवहन विभाग में ट्रेनिंग में 100 रुपए का यूसेज चार्जेज अब किसी भी बैंक में जमा किया जा सकेगा, जीबी पंत राष्ट्रीय पर्यावरण संस्थान को निःशुल्क जमीन देने पर फैसला, कार्मिक विभाग के उत्तराखंड उच्चतर न्यायिक विभाग नियमावली में संशोधन को हरी झंडी, PMJSY से बाहर 3177 बसावट को मुख्यमंत्री ग्राम संपर्क योजना से जोड़ा जाएगा, राज्य 539 उत्कृष्ट विद्यालय बनाए जायेंगे, जिसपर 240 करोड़ खर्च होंगे, रजिस्ट्री कार्यालय में अब वर्चुअल प्रेजेंस को भी हरी झंडी, राजकीय मेडिकल कॉलेज, पिथौरागढ़ व हरिद्वार में 1900 पदों हरी झंडी, एक अक्टूबर 2005 से पहले के सभी कार्मिकों को पुराने पेंशन व्यवस्था में शामिल करने को हरी झंडी, लंबी छुट्टी पर गए शिक्षकों की जगह पर क्लास की दर पर शिक्षक रखे जाने को हरी झंडी दी है।

प्रदेश प्रवक्ता हेमंत द्विवेदी ने इसके साथ ही बताया कि धामी सरकार ने राज्य में स्वच्छता, इंफ्रास्ट्रक्चर विकास, और ग्रामीण क्षेत्र में सुधारों पर भी महत्वपूर्ण ध्यान दिया है। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार के प्रयासों से राज्य में सामाजिक और आर्थिक सुधार बढ़ रहा है। वही उन्होंने बताया कि पुष्कर सिंह धामी की नेतृत्व में धाराप्रवाह शिक्षा, तकनीकी उन्नति, और युवा पीढ़ी के लिए रोजगार की दिशा में कई पहलुओं पर काम हो रहा है। साथ ही, राज्य को विभिन्न क्षेत्रों में विकास करने के लिए सुरक्षितता, पर्यावरण संरक्षण, और जनहित में नई योजनाएं भी शुरू की गई हैं। उन्होंने बताया कि पुष्कर सिंह धामी की नेतृत्व में उत्तराखंड में अनुसंधान और तकनीकी उन्नति को प्रोत्साहित करने के लिए नए और आधुनिक प्रयासों पर काम हो रहा है।

साथ ही हेमंत द्विवेदी ने बताया कि 8 अक्टूबर को होने वाले इन्वेस्टर समिट में देश विदेश से आने वाले तीन हजार निवेशकों द्वारा उत्तराखंड में निवेश किया जाएगा, जिससे पर्यटन, शिक्षा आईटी, फार्मा, वैलनेस, आयुष, हेल्थ केयर, रियल एस्टेट, ऑटो, कृषि एवं बागवानी, अवस्थापना विकास और ऊर्जा के क्षेत्र में फोकस रहेगा। लैंड बैंक के रूप में उद्योगों को स्थापित करने के लिए 6 हजार हेक्टेयर से अधिक जमीन तैयार की गई है। इन्वेस्टर समिट में ढाई लाख करोड़ के निवेश का लक्ष्य रखा गया है, अब तक सरकार ने दो लाख करोड़ से अधिक के निवेश को लेकर निवेशकों से एमओयू कर लिया है।

To Top
Ad