Uttarakhand News

उत्तराखंड में दो महीने पहले ही कोरोना की पहली डोज लगाने का पूरा हुआ टारगेट



देहरादून: देवभूमि उत्तराखंड कभी भी किसी बड़े अभियान में पीछे नहीं रहा है । आपदा से निपटना हो या फिर हज़ारो भक्तों को चार धाम के दर्शन करवाने हो , हमेशा ही राज्य सरकार ने और राज्य के लोगों ने पूरी तरीके से संयोग कर कार्य को सफल किया है । अब प्रदेश में पात्र व्यक्तियों कोे कोविडरोधी वैकसीन की शत प्रतिशत पहली डोज लगवाकर राज्य ने एक बार फिर यह साबित कर दिया है । मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने यह जानकारी साझा की और कहा सरकार ने वैक्सीनेशन का लक्ष्य पहले ही पूर्ण कर लिया है । दरअसल सरकार का यह लक्ष्य दिसंबर तक था मगर यह उस से पहले ही पूरा कर दिया गया जो की काबिले तारीफ है ।

Ad

धामी ने लक्ष्य प्राप्ति के लिए सभी कार्मिकों समाजिक व धार्मिक संस्थाओं की प्रशंसा करते हुए उनका आभार जताया और कहा कि जैसे ही 18 वर्ष से कम आयु् वालों के लिए केंन्द्र सरकार से अनुमति मिलेगी , राज्य सरकार इनका भी वैक्सीनेशन शुरू कर देगी । आगे मुख्यमंत्री कहते हैं कि उत्तराखंड में केंन्द्र सरकार के मार्गदर्शन में 16 जनवरी से कोविडरोधी वैक्सीनेशन कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है । धामी ने बताया कि राज्य में 18 वर्ष से अधिक आयु के लगभग 77,29,466 पात्र लाभार्थियों का वैक्सीनेशन किया जाना था जिसमें इनमे से 74 लाख से अधिक को वैक्सीन का पहला डोज लगाया जा चुका है । उन्होंने कहा कि अभी तक कुल 99.6 प्रतिशत स्वास्थ्य कर्मचारी ,99.2 प्रतिशत फ्रंट लाइन वर्कर और 96.01 प्रतिशत 18 वर्ष की आयु वाले व्यक्तियों को वैक्सीन लगाई जा चुकी हैं । वही गर्भवती महिलाओं को उचित परामर्श के जरिये जागरुक किया जा रहा है और उनकी सहमति के अनुसार ही उन्हें वैक्सीन लगाई जा रही है । गंभीर बीमारी वालों को वैक्सीन नहीं लगाई जा रही और कुछ ऐसे भी लोग है जिन्हें वैक्सीन पर भरोसा नहीं है और वह इसके इच्छुक भी नहीं हैं ।

यह भी पढ़ें 👉  ज़बरदस्त: नैनीताल पुलिस ने रिकवर किए चोरी व गुम हुए 23 लाख रुपए के मोबाइल

आखिर में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राज्य को आवश्यक्तानुसार वैक्सीन की पर्याप्त डोज उपलब्ध कराए जाने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार जताया । उम्मीद है की जल्द ही 18 वर्ष से कम आयु वालों के लिए सरकार निर्देश देगी और यह कार्य भी जल्द पूरा होगा । जो लोग वैक्सीन के इच्छुक नहीं है उनके लिए आशा करते है कि तीसरी लहर से पहले वह अपना मन बदल लेंगे । कोरोना की हार के लिए वैक्सीन के टीके हर हाल में जरुरी हैं।

To Top