Ad
Bageshwar News

बागेश्वर के वर्णक ने नामीबिया में दिखाया दम, मार्शल आर्ट्स चैंपियनशिप में जीता गोल्ड मेडल

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

बागेश्वर: देवभूमि खास इसलिए भी है क्योंकि यहां के युवा किसी एक क्षेत्र में ही महारथी नहीं है बल्कि सभी कार्य क्षेत्र में अपना लोहा मनवा रहे हैं। अब बागेश्वर के वर्णक सिंह धर्मशक्तू ने नामीबिया में आयोजित हुई मार्शल आर्ट्स चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल अपने नाम किया है। जिससे सिर्फ बागेश्वर जनपद ही नहीं बल्कि पूरे उत्तराखंड और देश का नाम गौरवान्वित हुआ है।

बता दें कि बीते दिनों नामीबिया में यूनाइटेड वर्ल्ड मार्शल आर्ट्स फेडरेशन के ओर से फर्स्ट वर्ल्ड मार्शल आर्ट चैंपियनशिप का आयोजन किया गया। इस चैंपियनशिप के आयोजन के दौरान भारत के हाई कमीशन और भारत के लोग भी वहां मौजूद रहे। इस चैंपियनशिप में वर्णक ने प्रथम स्थान पाकर गोल्ड मेडल जीता और पूरे देश का नाम रोशन किया है।

यह भी पढ़ें 👉  35 घंटे बाद खुला नेशनल हाईवे, पहाड़ जाने वालों को मिली राहत

वर्णक के कोच विक्रम कपूर भी इस उपलब्धि से बहुत खुश हैं। बता दें कि वर्णक के पिता स्वर्गीय नारायण सिंह धर्मशक्तु मिनिस्ट्री आफ हेल्थ एवं फेमिली वेलफेयर के फार्मर प्रिंसिपल एडवाइजर रहे हैं। उन्हें 2019 में इंटरनेशनल गांधी अवार्ड से भारत के राष्ट्रपति ने सम्मानित किया। मूल रूप से गांव कनौली बिचला दानपुर के निवासी वर्णक का ननिहाल मुनस्यारी में है।

यह भी पढ़ें 👉  पिथौरागढ़ हाईवे पर भूस्खलन, फंसे हुए सैंकड़ों लोगों को SDRF ने निकाला बाहर

यह पहली बार नहीं है जब वर्णक ने सभी को गर्व के पल दिए हैं। इससे पहले भी वह स्कूल लेवल पर स्विमिंग में गोल्ड मेडल जीत चुके हैं। साथ ही वह उच्च कोटि के लॉन टेनिस खिलाड़ी भी हैं। मौजूदा वक्त की बात करें तो वर्णक इंटरनेशनल अल्टीमेट क्रावमागा फेडरेशन के इंस्ट्रक्टर पद पर कार्यरत है। वर्णक की इस उपलब्धि पर उनके गृह क्षेत्र में भी हर्ष का माहौल व्याप्त है।

Join-WhatsApp-Group
To Top