Nainital-Haldwani News

नैनीताल में महिला पर्यटक ने बीच सड़क पर पति को पीटा, फिर झील में कूदने के लिए लगाई दौड़


नैनीताल में महिला पर्यटक ने बीच सड़क पर पति को पीटा, फिर झील में कूदने के लिए लगाई दौड़

नैनीताल: सरोवर नगरी में पर्यटकों की आवाजाही बढ़ते ही शहर से अजीबोगरीब मामले सामने आने लगते हैं। इस बार एक महिला पर्यटक ने अपने पति को चलती सड़क पर केवल इसलिए पीट दिया क्योंकि वह अपनी साली के बेटे को साथ घुमाने ले आया था। इतना ही नहीं महिला ने झील में कूदने के लिए दौड़ भी लगाई वो तो गनीमत रही कि पुलिस ने उसे रोक लिया।

मामला है तो तल्लीताल बस स्टेशन के पास का मगर इसके तार दिल्ली से जुड़े हैं। दरअसल दिल्ली निवासी दंपती नैनीताल घूमने आए थे। साथ में उनके दो बच्चे व एक रिश्तेदार का बच्चा भी आया था। सोमवार की बात है जब बस स्टेशन के पास पहले महिला की पति के साथ कहासुनी हुई और फिर उसने पति पर हाथ छोड़ना शुरू कर दिया।

यह भी पढ़ें 👉  अच्छी खबर है...दिल्ली से उत्तराखंड के तीन शहरों के लिए चलेंगी AC बसें

यह भी पढ़ें: रानीबाग पुल से भारी वाहनों की आवाजाही बंद,डायवर्जन ने निकाले यात्रियों के पसीने

यह भी पढ़ें: आमा-बूबू को जरूर बताना, कोई परेशानी हो तो 14567 नंबर पर कॉल करना

राहगीर ये सब देख रहे थे। ऐसे में पुलिस को फौरन किसी के द्वारा सूचना दी गई। मौके पर पुलिस पहुंची तो पूरे परिवार को चौकी में बुलाया गया। महिला के मुताबिक जब वह अपनी बहन से बात नहीं करती तो पति को बहन के बेटे को साथ लाने की क्या जरूरत थी।

यह भी पढ़ें 👉  IAS दीपक रावत पहले भी निभा चुके हैं कुमाऊं कमिश्नर पद की जिम्मेदारी

पति का कहना था कि पत्नी से इस बारे में राय लेकर ही साले के बेटे को लाया गया था। अब पत्नी पुलिस के सामने ही बिगड़ गई। हंगामा इतना बढ़ गया कि पुलिस को बीच बचाव करना पड़ा। इस दौरान महिला ने आव देखा ना ताव झील में कूदने के लिए सरपट दौड़ लगा दी।

यह भी पढ़ें: सोच हिंदी लेकिन पढ़ाई अंग्रेजी में… स्कूल के खिलाफ धरने पर बैठी रामनगर GGIC की छात्राएं

यह भी पढ़ें: अफगानिस्तान से लौटे दून के नितेश, तालिबानियों को 45 लाख रुपए देकर बची जान

गनीमत रही कि पुलिस व स्थानीय लोगों ने तत्परता दिखाते हुए झील के किनारे पर ही महिला को पकड़कर रोक लिया। बहरहाल महिला के बच्चों व पति का कहना है कि वह मानसिक रूप से स्वस्थ नहीं चल रही है। उसका इलाज भी चल रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड के अगले साल के कैलेंडर में शामिल नहीं की गई इगास पर्व की छुट्टी

ऐसे में मामला थोड़ा शांत हुआ। इसके बाद बाद पुलिस पूरे परिवार को थाने लेकर आई। एसओ विजय मेहता ने बताया कि महिला की काउंसलिंग कर महिला को परिवार के साथ वापस भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के सरकारी स्कूलों में जुड़ेंगे रोजगार के ये विषय, 12वीं पास करते ही छात्र बन सकेंगे आत्मनिर्भर

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: महिला को जबड़े से खींच कर ले गया गुलदार,ननद ने बिना डरे ऐसे बचाई भाभी की जान

Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Ad
Ad

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top