Champawat News

बिस्किट समझकर चाय के साथ खाई चूहे मार दवा, 18 वर्षीय शिक्षिका ने हल्द्वानी में दम तोड़ा



चंपावत: जनपद के शिशु मंदिर में पढ़ाने वाली एक होनहार शिक्षिका की मौत हो गई है। मौत के कारण ऐसे हैं कि हर किसी को हैरानी हो रही है। दरअसल शिक्षिका ने शाम को नाश्ते में चाय के साथ चूहे मार दवा को बिस्किट समझकर खा लिया। अब उसे उल्टी हुईं तो परिजन लेकर सुशीला तिवारी अस्पताल आए। इलाज के दौरान शिक्षिका की मौत हो गई।

Ad

ये मामला चंपावत जिले के ग्राम अमोड़ी का है। यहां रहने वाली 18 वर्षीय विमला पुत्री चिंतामणि पास में ही शिशु मंदिर स्कूल में टीचर थी। मृतका के पिता की मानें तो शनिवार के जिस दौरान वह घर में बच्चों को कोचिंग पढ़ा रही थी, उसी वक्त वह रसोई में जाकर अपने लिए चाय बनाने लगी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में अबतक भाजपा और कांग्रेस ने नहीं खोले अपने पत्ते, आज से नामांकन भी शुरू...

चाय लेकर वह अपने कमरे में आ गई। यहां परिवारजनों ने कागज के अंदर चूहे मरने के बिस्किट रखे थे। विमला ने बिना किसी से पूछे उन्हें नॉर्मल बिस्किट समझकर चाय के साथ खा लिया। दो बिस्किट खाने के बाद ही उसे उल्टी होने लगी। तबीयत बिगड़ी तो परिवारजनों ने जिले के निजी अस्पताल में दिखाया।

यह भी पढ़ें 👉  ज़बरदस्त: नैनीताल पुलिस ने रिकवर किए चोरी व गुम हुए 23 लाख रुपए के मोबाइल

यहां से उसे हल्द्वानी रेफर कर दिया। लेकिन सुशीला तिवारी अस्पताल में उपचार के दौरान रात को विमला की मौत हो गई। बता दें कि घर में सबसे छोटी और पढ़ाई में होनहार विमला के ऊपर घर की काफी जिम्मेदारियां थी। अब इस घटना से हर कोई टूट गया है।

To Top