Ad
Nainital-Haldwani News

रामनगर का VIDEO, युवक ने बिना जान की परवाह किए गर्भवती सवार एंबुलेंस को मलबे से निकाला

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

रामनगर: पहाड़ी इलाकों में बारिश की वजह से कई बार मलबा गिरकर सड़कों पर आ जाता है। जिससे आवाजाही में लोगों को दिक्कत होती है। रामनगर के दूरगामी इलाके मे बीती रात एक प्रसूता को लेकर अस्पताल जा रही एंबुलेंस ऐसे ही एक रास्ते पर फंस गई। वो तो अच्छा रहा कि रामनगर निवासी एक सज्जन ने परेशानी को समझते हुए अपनी गाड़ी से एंबुलेंस को टो कर दिया।

बता दें कि एक वीडियो सोशल मीडिया के माध्यम से फैल रहा है। जिसमें एक थार से एंबुलेंस को खींचा जा रहा है। यह वीडियो रामनगर का है। दरअसल रामनगर के अमगढ़ी-बेतालघाट रोड से प्रसूता को लेकर गुजर रही 108 एंबुलेंस भूस्खलन के बाद सड़क पर आए मलबे में फंस गई थी। बताया जा रहा है कि काफी जोर आजमाइश के बाद भी एंबुलेंस नहीं निकल सकी। उधर, गाड़ी में सवार प्रसूता के प्रसव पीड़ा बढ़ती जा रही थी।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल में नहीं चलेगी मनमानी, बिना पंजीकरण के चल रहे 5 रिजॉर्ट हुए सील

ऐसे में उस रामनगर निवासी जग्गी लोहनी फरिश्ते के रूप में वहां आए। वह अपने दोस्त ओखलडूंगा निवासी नंदन बिष्ट के घर से होकर वापिस लौट रहे थे। तभी रास्ते में एंबुलेंस देखकर उन्होंने अपनी गाड़ी रोकी और देखा कि प्रसूता भी दर्द में है और 108 गाड़ी फंसी हुई है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने जारी किया एग्जाम कैलेंडर लेकिन इन परीक्षाओं के लिए करना होगा इंतजार

इसपर उन्होंने फौरन सूझबूझ दिखाते हुए 108 से लगी सीट बेल्ट को खोलकर अपने वाहन में टो किया और मलबे से बाहर निकाला। इस बीच समस्या यह थी कि दूसरी तरफ खाई थी। बड़ी समझदारी और मशक्कत के बाद एंबुलेंस बाहर निकली और प्रसूता को लेकर अस्पताल पहुंची। जहां वह पूरी तरह स्वस्थ है।

यह भी पढ़ें 👉  अंकिता के दोस्त के बयान दर्ज, रिजॉर्ट के पूर्व कर्मियों ने भी किया चौंकाने वाला खुलासा

रामनगर निवासी जग्गी लाेहनी ने बताया कि एंबुलेंस करीब आधे घंटे से फंसी हुई थी। एंबुलेस में प्रसूता का दर्द देखकर उन्होंने मदद का फैसला किया। करीब 60 से 70 मीटर खींचने के बाद एंबुलेंस आगे निकली। बताया जा रहा है कि वहां रास्ते पर जेसीबी भी खड़ी थी। मगर उसका ड्राइवर अपने घर जा चुका था। ऐसे में प्रशासन पर भी सवाल उठ रहे हैं।

Join-WhatsApp-Group
To Top