Champawat News

कुमाऊं रेजीमेंट के जवान की ट्रेन से गिरकर मौत, छुट्टी लेकर लोहाघाट जा रहे थे गौतम


कुमाऊं रेजीमेंट में तैनात लोहाघाट निवासी जवान की ट्रेन से गिरकर मौत, छुट्टी लेकर घर आ रहे थे गौतम

लोहाघाट: कुमाऊं रेजीमेंट कोटा राजस्थान (Kumaun Regiment Kota Rajasthan) में तैनात जवान बहादुर गौतम की एक हादसे में मौत हो गए। लोहाघाट निवासी बहादुर एक महीने की छुट्टी लेकर अपने घर आ रहे थे। इसी दौरान ट्रेन से गिरकर उनकी मौत हो गई। परिवारजनों को सूचना मिली तो खुशी की माहौल शोक में तब्दील हो गया। हर किसी को रो-रो कर बुरा हाल है।

Ad

सेना के जवानों के लिए छुट्टियों की अहमियत इसलिए ज्यादा होती है क्योंकि यही वो वक्त होता है जब वे अपने परिवार के साथ वक्त व्यतीत करते हैं। मगर लोहाघाट गोरखानगर (Lohaghat Gorkhanagar) निवासी 33 वर्षीय गौतम बहादुर (Gautam Bahadur) की तकदीर को कुछ और ही मंजूर था। दरअसल गौतम पुत्र स्व. मनोज बहादुर तीन कुमाऊं रेजीमेंट कोटा राजस्थान में तैनात थे।

यह भी पढ़ें 👉  पार्टी बदली, चेहरे वही...नैनीताल में फिर आमने सामने होंगे संजीव आर्य और सरिता आर्य

गौतम पूरे एक माह की छुट्टी (One month leave) पर अपने घर आ रहे थे। वह रेजीमेंट से अवकाश लेकर बुधवार को ट्रेन में बैठ गए। मृतक के चाचा लाखन बहादुर ने बताया कि कोटा सेना अधिकारियों के हवाले से सूचना मिली। उन्होंने बताया कि गौतम ने देहरादून के लिए ट्रेन में रिजर्वेशन (reservation in train) किया था। कोटा रेलवे स्टेशन में लगी दो ट्रेनों में से गौतम एक में बैठ गए।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी से टिकट मिलने पर भावुक हुए सुमित हृदयेश...बोले कांग्रेस ने नहीं खलने दी मां की कमी

जैसे ही ट्रेन चलने लगी वैसे ही गौतम को प्रतीत हुआ कि वह गलत ट्रेन में बैठ गए हैं। इतने में वह आनन फानन ट्रेन से उतरने की कोशिश करने लगे। ऐसे में उनके बैग का कुंडा ट्रेन के दरवाजे में फंसा और वह प्लेटफॉर्म में गिर (falls from train) गए। जिसके बाद गौतम ट्रेन के साथ घसीटते चले गए। इसी वजह से उनकी मौत हो गई।

यह भी पढ़ें 👉  पहाड़ों की रानी मसूरी में हुई सीजन की दूसरी बर्फबारी...वीकेंड पर लुत्फ उठाने पहुंचे सैलानी

चाचा लाखन की मानें तो अभी दो महीने पहले ही गौतम छुट्टी से वापस लौटे थे। इस बार वह फिर से घऱ आ रहे थे। गौरतलब है कि जब गौतम की मौत की सूचना यूनिट के एक अधिकारी द्वारा घरवालों को दी गई तो कोहराम मच गया। चाचा लाखन ने बताया कि शव के शुक्रवार दोपहर तक लोहाघाट पहुंचने की उम्मीद है।

To Top