Election Talks

उत्तराखंड में चुनाव से ठीक पहले जनसभा में लोगों की संख्या पर लगी रोक को हटाया गया…


Ad
Ad

देहरादून: आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर अब सभी राजनीतिक दल और नेताओं के लिए एक राहत भरी खबर सामने आई है। बता दें कि अब जनसभाओं के लिए सीमित संख्या की बाध्यता हटा दी गई है। अब राजनीतिक दल और प्रत्याशी खुले मैदान और हॉल में बड़ी सभाएं कर सकेंगे। हालांकि 12 फरवरी शाम 5:00 बजे तक ही प्रचार प्रसार का दौर जारी रहेगा।

Ad
Ad

गौरतलब है कि कोविड-19 के खतरे के बढ़ने के बाद गाइडलाइन के अनुसार बड़ी सभाओं पर रोक लगा दी गई थी। जिसके चलते अधिकतर वर्चुअल रैलियां ही आयोजित की जा रही थी। लेकिन अब पार्टियों के लिए एक राहत भरी खबर सामने आई है। अब चुनाव आयोग ने सभा करने पर लोगों की संख्या की बाध्यता को हटा दिया है। हालांकि अगले आदेश तक रोड शो, पदयात्रा, साइकिल, बाइक, वाहन रैली पर प्रतिबंध जारी रहेगा।

बता दें कि खुले मैदान में अब प्रत्याशियों के लिए हजार लोगों की बाध्यता नहीं है। बल्कि अब खुले मैदान की क्षमता का 30% या उसे जिले की डीएम की ओर से निर्धारित संख्या में नेता में जनसभाएं कर पाएंगे। हालांकि दूसरी तरफ डोर टू डोर प्रचार में 20 लोगों से अधिक की संख्या को अनुमति नहीं मिलेगी। इसके साथ ही रात 8:00 बजे से लेकर सुबह 8:00 बजे तक प्रचार-प्रसार बंद रहेगा।

इसके अलावा ये आदेश भी जारी हुए हैं कि खुले मैदान, इंडोर हॉल में सभाएं होंगी। फिर भी लोगों के आने-जाने के लिए अलग-अलग गेट बनेंगे। उसके साथ ही मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और तमाम कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करना होगा। प्रचार के कुछ दिन पहले ही दी गई इस राहत को राजनीतिक दल एक बड़ी राहत के रूप में देख रहे हैं। बता दें कि प्रदेश में 70 विधानसभा सीटों पर 14 फरवरी को मतदान होना है।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top