Dehradun News

दिल्ली-ऋषिकेश का सफर पांच घंटे में पूरा,रोडवेज ने नहीं बढ़ाया वोल्वो का किराया


देहरादून से दिल्ली अब केवल चार घंटे दूर, नॉन स्टॉप दौड़ेंगी Volvo बसें
Ad
Ad

देहरादून: ऋषिकेश और दिल्ली ( DELHI AND RISHIKESH BUS) के बीच की दूरी कम हो गई है। अब यात्रियों को 7 घंटे नहीं बल्कि दिल्ली पहुंचने में केवल 4.30- 5 घंटे लग रहे हैं। रोडवेज डिपो ने शुक्रवार से दोनों शहरों के बीच के लिए नई वॉल्वो सेवा ( Volvo bus for delhi and rishikesh) शुरू कर दी है जो सैलानियों के लिए राहत भरी बात है। दिल्ली से ऋषिकेश पर्यटक ( Tourist in rishikesh) बड़ी संख्या में पहुंचते हैं।

Ad
Ad

वहीं ठंड के बढ़ने के बाद वोल्वो बस एक बेहतर विकल्प है। यह बस सेवा वाया मोदीनगर, मुरादनगर की जगह मेरठ एक्सप्रेस-वे ( Delhi to rishkesh via meerut express way) पर संचालित हो रही है। इसके अलावा यह बस रास्ते में कहीं नहीं रुकती है जिससे करीब 45 से एक घंटा मिनट तक बच पाता है।

नई वॉल्वो बस ( Volvo bus ticket for delhi to rishkesh) सेवा में  प्रति यात्री किराया 804 रुपये है और इसका संचालन ऋषिकेश अड्डे से दोपहर 12 बजे से हो रहा है। वहीं दिल्ली से ऋषिकेश के लिए यह बस रात 11 बजे से लोगों को सेवा दे रही है। वोल्वो बस में यात्रा करने वालों के लिए ऑनलाइन विंडो ( Online bus ticket uttarakhand transport corporation भी खोल दी गई है। बस को लेकर यात्री उत्साहित हैं और टिकट ऑनलाइन बुक हो रही हैं। दोनों शहरों के बीच उत्तराखंड रोडवेज की 5 वोल्वो बसें सेवा देती हैं।

देहरादून में युवाओं से मिले मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित मुख्य सेवक सदन भेंट कक्ष में आयोजित यूथ कैन लीड कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। मुख्यमंत्री ने विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करने वाले युवाओं से कहा कि युवाओं में अपने कार्य के प्रति जुनून होना चाहिए, अपने जीवन में उन्होंने जो भी संकल्प लिया है उसमें विकल्प न आने दें। संकल्प में विकल्प आने से भटकाव आने लगता है। लगातार चलने से निश्चित ही सफलता मिलती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं को अपने कार्य क्षेत्र में दक्षता के साथ कार्य करना होगा, किसी की भी प्रतिभा को छिपाया नहीं जा सकता, मनुष्य नहीं उसका कार्य एवं व्यवहार बोलता है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं को समाज की बेहतरी तथा समाज को दिशा देने का कार्य करना होगा। समाज सेवा एवं राष्ट्र निर्माण के लिये आप जो भी सेवा चुनें उसमें बेहतर कार्य करने का प्रयास करें तथा अपने कार्य एवं व्यवहार से नेतृत्व प्रदान करने का कार्य करें। उन्होंने कहा कि जवानी और जिंदगानी बार बार मिलने वाली चीज नहीं इसलिये संकल्प के साथ अपना ध्येय बनाकर समाज को अपनी ऊर्जा से आलोकित करने का प्रयास करें। दृढ़ इच्छा शक्ति के बल पर युवा जो बनना चाहता है बन सकता है।


          मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वामी विवेकानन्द ने कहा है कि उठो जागो और तब तक नहीं रूको जब तक कि लक्ष्य की प्राप्ति न हो जाए। मनुष्य ऊर्जा शक्ति का भण्डार है। वह जो करना चाहे, लक्ष्य तय कर प्राप्त कर सकता है। उन्होंने कहा कि हमारे युवा 21वीं सदी में भारत के सपनों को पूरा करने का कार्य करेंगे।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top