Uttarakhand News

उत्तराखंड के इतिहास में पहली बार हो रही है शीतकालीन चारधाम यात्रा, 27 दिसंबर से शंकराचार्य करेंगे यात्रा का आरम्भ


Uttarakhand Historic Chaar Dham Yatra: 27 December 2023: देवों की भूमि माने जाने वाले हमारे उत्तराखंड में शीतकालीन तीर्थ यात्रा की पहल ऐतिहासिक है। ऐसी अदभुत यात्रा करने वाले पहले शंकराचार्य को मुख्यमंत्री धामी ने नमन कर शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि इस ऐतिहासिक तीर्थ यात्रा से चारों धामों में शीतकालीन यात्रा को बढ़ावा और श्रद्धालुओं को प्रेरणा मिलेगी।

एक तरफ जब पूरी दुनिया के साथ उत्तराखंड के भी कई क्षेत्र क्रिसमस के जश्न में डूबे नज़र आएँगे। वहीं भारतीय सनातन संस्कृति के संरक्षण और शक्ति के प्रभाव को पूरी दुनिया तक अपनी शीतकालीन तीर्थ यात्रा से पहुंचाएंगे शंकराचार्य।

गर्मियों में गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ और बदरीनाथ जैसे तीर्थ स्थलों में भक्तों का तांता लगा रहता है। अपनी मनोकामना लेकर प्रभु के द्वार पर अनेकों भावों से आने वाले भक्तगण भी सुविधानुसार यात्रा का महीना एवं समय तय करते हैं। पर जगतगुरु शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद 2023 के अंतिम चरण में 27 दिसंबर यह ऐतिहासिक और पहली शीतकालीन तीर्थ यात्रा प्रारम्भ कर रहे हैं।

शंकराचार्य के प्रतिनिधियों ने रविवार 24 दिसंबर को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से भेंट कर उन्हें इस यात्रा कि विशेष जानकारी दी। 27 दिसंबर से शुरू होने वाली इस पवित्र यात्रा के लिए मुख्यमंत्री धामी ने शुभकामनाएं दी हैं।

यह यात्रा इस वर्ष के अंतिम दिनों में शुरू हो रही है जो 2 जनवरी यानी नववर्ष के आरम्भ में हरिद्वार पहुंचकर समाप्त होगी। यह भी अंत ही आरम्भ और आरम्भ ही अंत जैसे सिद्धांत की सटीक रचना है।

युगों-युगों के सबसे पवित्र और पुरातन धर्म ‘सनातन धर्म’ के प्रचार और सनातन धर्म के प्रति सभी भक्तजनों की जागरूकता अभूतपूर्व है। जो हमारे राष्ट्र को एक सशक्त दिशा प्रदान कर रही है। और देवभूमि उत्तराखंड के लिए यह गर्व का क्षण है जब शंकराचार्य ने अपनी इस ऐतिहासिक शीतकालीन तीर्थ यात्रा के लिए भारत के मज़बूत आधार स्तम्भ माने जाने वाले हमारे चारों धामों को चुना है।

यात्रा में मुख्यमंत्री धामी को आमंत्रित करने के लिए ज्योतिर्मठ के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री से भेंट कर उन्हें सादर आमंत्रित किया। प्रतिनिधिमंडल एवं शंकराचार्य जी को हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए मुख्यमंत्री धामी ने इस पहल से शीतकालीन तीर्थ यात्रा को बढ़ावा मिलने की बात भी कही।

To Top