उत्तराखंड: जोशीमठ में ग्लेशियर फटने की खबर, पुलिस ने जारी किया संदेश

देहरादून: राज्य कोरोना वायरस के प्रकोप से लड़ रहा है। लगातार मरीज बढ़ रहे हैं और मौत का आंकड़ा भी तेजी से बढ़ रहा है। इसी बीच एक बड़ी खबर जोशीमठ से सामने आ रही है। उत्तराखंड के जोशीमठ के पास एक ग्लेशियर फटा है। घटना में हानि को लेकर कोई भी जानकारी सामने नहीं आई है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सीमा क्षेत्र सुमना में सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) कैंप के समीप ग्लेशियर टूटकर मलारी-सुमना सड़क पर आ गया है।

सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) के कमांडर कर्नल मनीष कपिल ने बताया कि भारत-चीन सीमा पर उत्तराखंड के जोशीमठ के पास एक ग्लेशियर फटा है। ग्लेशियर फटने से किसी मजदूर या व्यक्ति को नुकसान पहुंचा है या नहीं इसकी जानकारी इकट्ठा की जा रही है। फिलहाल चमोली के पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान ने ऐसी किसी घटना की जानकारी होने से इनकार किया है। बताया जा रहा है कि बीआरओ के मजदूर सड़क निर्माण कार्य का काम कर रहे थे।

भारत चीन सीमा पर सुमना के पास ग्लेशियर टूटने की सूचना सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इस संबंध मे बीआरओ कमांडर ने बताया…

Posted by Uttarakhand Police on Friday, 23 April 2021

इस घटना को लेकर उत्तराखंड पुलिस ने भी सोशल मीडिया पर जनता के लिए संदेश छोड़ा है।

भारत चीन सीमा पर सुमना के पास ग्लेशियर टूटने की सूचना सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इस संबंध मे बीआरओ कमांडर ने बताया कि ग्लेशियर टूटने की सूचना उन्हें भी प्राप्त हुई है। जानकरी जुटाई जा रही है कि यह घटना किस जगह पर हुई है। खराब मौसम के कारण दूरभाष से भी संपर्क नही हो पा रहा है। टीमों को स्थिति का जायज़ा लेने के लिए रवाना कर दिया गया है। जब तक आधिकारिक पुष्टि नही हो जाती है धैर्य व संयम बनाये रखें और इस संबंध में अफवाह फैलाने से बचें।

इसी वर्ष फरवरी में उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर के फटने की वजह से कई लोगों की जान चले गई थी। कई लोगों के शव अभी भी बरामद नहीं हुए हैं। ग्लेशियर फटने से ऋषिगंगा और धौलीगंगा नदियों के जलग्रहण क्षेत्रों में बाढ़ से जान और माल की महत्वपूर्ण हानि हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *