National News

देवेंद्र सिंह की हर तरफ हो रही है वाहवाही…शादी में पांच लाख रुपए का दहेज लेने से किया साफ इनकार


देवेंद्र सिंह की हर तरफ हो रही है वाहवाही...शादी में पांच लाख रुपए का दहेज लेने से किया साफ इनकार
Ad
Ad

सीकर: शादियों में कई रीति रिवाज (wedding rituals) ऐसे हैं, जिन्हें अब युवा पीढ़ी मानने को तैयार नहीं हो रही है। दहेज प्रथा को लेकर युवा सोच पुराने जमाने की सोच से कतई मेल खाती नहीं दिख रही है। राजस्थान के सीकर जिले (Sikar district Rajasthan) में ऐसा ही एक मामला सामने आया है। जहां दूल्हे ने टीके की रस्म के दौरान बड़ा नेक उदाहरण दिया है। उसने वधु पक्ष द्वारा दिए जा रहे पांच लाख रुपए को लौटा दिया।

Ad
Ad

सीकर जिला डालमास (Sikar Dalmas) निवासी देवेंद्र सिंह शेखावत पुत्र महेंद्र सिंह शेखावत की शादी चूरू जिले के रतनगढ़ (Churu Ratangarh) के फ्रांसा गांव निवासी सोनू कंवर पुत्री बजरंग सिंह राठौड़ के साथ हुई है। 28 नवंबर को हुये इस विवाह के दौरान एक अद्भुत काम हुआ। जब वधु पक्ष की तरफ से टीके की रस्म में दूल्हे को 5 लाख रुपये भेंट किये गये तो दूल्हे ने दहेज रूपी इस भेंट (Dowry in form of gift) को लेने से मना कर दिया।

दूल्हे ने इन रुपयों के हाथ भी नहीं लगाया। दूल्हे का कहना था कि वह खुद मेहनत कर पैसे कमाना चाहता है। इस दहेज (Returned the dowry) को ना लेकर उसे अपने हाथ पवित्र रखने हैं। देवेंद्र सिंह ने कहा कि समाज में दहेज प्रथा को खत्म करने के लिए सभी को आगे आना होगा। इस कृत्य से वहां मौजूद वधु पक्ष के लोगों के साथ साथ हर कोई भावुक (Everybody got emotional) हो गया।

गौरतलब है कि दूल्हे और उसके पिता ने इस दहेज को मना करके एक बड़ी मिसाल पेश की है। उन्हें उम्मीद है कि समाज में इस तरह का चलन (Groom sets great example) शुरू होगा कि दहेज प्रथा बंद हो जाएगी। दहेज प्रथा सालों से चली आ रही प्रथा है। जिसमें दूल्हे को दुल्हन के पिता द्वारा बेटी के साथ साथ रुपए भी देने होते हैं। मगर अब ये सिर्फ रीति रिवाज नहीं रहा बल्कि उससे बढ़कर हो गया है। जिससे दुल्हन पक्ष के लोगों को मुसीबतें झेलनी पड़ती हैं।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top