Uttarkashi News

गंगोत्री धाम जा रहे यात्री की रास्ते में हुई तबीयत खराब, हॉस्पिटल में तोड़ा दम


देहरादून: चारधाम यात्रा में कई तीर्थयात्रियों की स्वास्थ्य खराब होने की वजह से मौत हो जाती है। साल 2023 की यात्रा में भी ऐसा हो रहा है।  गंगोत्री धाम की यात्रा पर आए तीर्थयात्री की हृदय गति रुकने से मौत हो गई। यात्री गुजरात का रहने वाला था और हर्षिल के पास उनकी मौत हो गई। हृदय गति रुकने की वजह से अब तक गंगोत्री धाम में 7 तीर्थयात्रियों की मौत हो गई है। वहीं यमुमोत्री धाम में ये आंकड़ा 11 है।

गुजरात निवासी तीर्थयात्री की मौत

जानकारी के अनुसार रविवार को अमृत भाई (65) निवासी हरियाल गांव, जिला सूरत गुजरात की गंगोत्री धाम जाते वक्त रास्ते में तबीयत बिगड़ी। उनके साथ कुछ अन्य यात्री भी थे तो उन्होंने 108 सेवा से मदद मांगी। 108 सेवा के माध्यम से अमृत भाई को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हर्षिल पहुंचाया गया लेकिन उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई।

ठंड ने बढ़ाई यात्रियों की परेशानी

कपाट खुलने के बाद से चारधाम का मौसम काफी खराब हो गया है। ठंड की वजह से तीर्थयात्रियों की सेहत में बुरा प्रभाव पड़ा है। यात्रा शुरू होने से अब तक 18 तीर्थ यात्रियों की मौत हो चुकी है। पिछले वर्ष की तुलना में धाम समेत पैदल मार्ग पर स्वास्थ्य सेवाएं काफी दुरुस्त की गई है। पैदल मार्ग पर 13 एमआरपी (मेडिकल रिलीफ सेंटर) स्थापित किया गया है, जिसमें जीवनरक्षक दवाओं के साथ आक्सीजन सिलिंडर भी रखे गए हैं। वहीं स्वास्थ्य विभाग ने सभी तीर्थयात्रियों से अपील की है कि वह मेडिकल चैकअप कराकर ही यात्रा में आए।

To Top