Nainital-Haldwani News

आइए स्कूल स्पोर्ट्स प्रोमोशन फाउंडेशन का हिस्सा बन युवा खिलाड़ियों को उड़ने का मौका दें


हल्द्वानी: केवल पढ़ाई ही किसी के कामयाब होने की स्क्रिप्ट नहीं लिखती हैं। कई बार खेल किसी के महान होने का परिचय देता है। पीढ़ी उसे अपना आर्दश मानती है। पिछले कुछ सालों में देश में खेल के प्रति युवाओं की काफी उत्सुक्ता देखने को मिली है, यही कारण है कि जो समाज पहले लिखो गे-पढ़ों गे बनोंगे नवाब खेलो गे कूदोगे होगे खराब बोलता था वहीं अब खेल को जिंदगी बनाने की बात कर रहा है।

इन सभी सभी के पीछे उन छोटी-छोटी इकाइयों का योगदान को कभी नहीं भूला सकते है जो युवाओं को मौका देती है। उन्हें बताती है कि ये टैलेंट उनकी जिंदगी का सबसे पड़ा हथियार है जिसकी बदौलत वो दुनिया जीत सकते हैं। स्कूल स्पोर्ट्स प्रोमोशन फाउंडेशन भी इसी राह में चल रही है। इसमें देश के तमाम स्कूल पंजीकरण कराकर खेल के प्रति उत्सुक रहने वाले छात्रों को प्लैटफॉर्म दे सकते हैं। साल 2018-2019 के लिए पंजीकरण ओपन हो चुका है। स्कूल स्पोर्ट्स प्रोमोशन फाउंडेशन का ये तीसरा सत्र है और अपने छोटे से कार्यकाल में उसने विभन्न खेलों में स्कूल के माध्यम से युवाओं को निखरने का मौका दिया है।

बात नैनीताल जिले समेत उत्तराखण्ड की करें तो स्कूल स्पोर्ट्स प्रोमोशन फाउंडेशन की ये मुहिम क्रिकेट के लिए संजीवनी साबित हो रही है। उत्तराखण्ड साल 2017-2018 में नेशनल चैंपियन रहा उसके अलावा नैनीताल जिले ने भी ऑल स्टेट चैंपियनशिप में खिताब को अपने नाम किया। सबसे ज्यादा नोटिस करने वाली बात ये है कि पिछले सत्र में नेशनल खिताब जीतने वाली टीम के 7 सदस्य नैनीताल जिले के थे, जो दिखाता है कि स्कूल स्पोर्ट्स प्रोमोशन फाउंडेशन युवा खिलाड़ियों के लिए शानदार मंच है।

स्कूल स्पोर्ट्स प्रोमोशन फाउंडेशन क्रिकेट नैनीताल जिला कॉडिनेटर दान सिंह कन्याल

स्कूल स्पोर्ट्स प्रोमोशन फाउंडेशन क्रिकेट नैनीताल जिला कॉडिनेटर दान सिंह कन्याल ने नए सत्र के बारे में बताया कि युवाओं के लिए यह एक मौका है जिसे स्कूल को भी समझना चाहिए। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड के बीसीसीआई से मान्यता प्राप्त नहीं है ऐसे में इस तरह का बड़ा मंच खिलाड़ियों के और बड़ा साबित हो जाता है। उन्होंने कहा कि नेशनल और स्टेट प्रतियोगिताओं में जिले के खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन रहा था। इस तरह के खेल से युवा खिलाड़ी दूसरे स्टेट बोर्ड की नजर में भी जाते हैं। नए सत्र के बारे जानकारी देते हुए उन्होंने बताया पंजीकरण विंडो ओपन है और इसे मात्र 5000 रुपए शुल्क देकर किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि इसके लिए http://sspf.in  में जाकर स्कूल प्रशासन ऑनलाइन पंजीकरण भी कर सकता है।

To Top