Sports News

ये जीत खास है…लड़ते लड़ाते भारत के लड़कों ने पांचवी बार जीता अंडर 19 क्रिकेट वर्ल्ड कप


Ad
Ad
Ad
Ad

नई दिल्ली: क्रिकेट के मामले में भारत का भविष्य सुरक्षित हाथों में है। जी हां, हम ये इसलिए कह सकते हैं क्योंकि भारतीय टीम ने बीती रात इंग्लैंड को हराकर अंडर-19 विश्व कप पर कब्ज़ा कर लिया है। भारत ने पांचवीं बार ये खिताब अपने नाम किया है। फाइनल में राज बावा और रवि कुमार की जबरदस्त गेंदबाज़ी और फिर उपकप्तान शेख़ रशीद, ऑलराउंडर राज बाबा और निशांत सिंधु की दमदार बल्लेबाज़ी की मदद से भारत ने अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप में जीत हासिल की।

दरअसल इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाज़ी की और भारत को 190 रनों का लक्ष्य दिया। बता दें कि भारत ने इंग्लैंड के शुरुआती छह बल्लेबाज़ों को बहुत कम रनों पर आउट कर दिया था। मगर इसके बाद शुरुआती झटकों से संभलते हुए इंग्लैंड ने मध्यक्रम के बल्लेबाज जेम्स रीव के शानदार 95 रनों की बदौलत अपनी पारी में 189 रन बनाए। भारत की तरफ से राज बावा ने पंजा खोला तो वहीं रवि कुमार ने चार विकेट लिए। इसी तरह इंग्लैंड को बड़ा स्कोर खड़ा करने से रोका।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की तरफ से भारतीय उपकप्तान रशीद ने सेमीफ़ाइनल की तरह अर्धशतक (50 रन) बनाए। दूसरे विकेट के लिए हरनूर सिंह के साथ उन्होंने 49 रन जोड़े और फिर अपना अर्धशतक पूरा करने के बाद तीसरे विकेट के रूप में आउट हुए। दूसरे सलामी बल्लेबाज़ हरनूर सिंह ने 21 रनों की अहम पारी खेली।

हालांकि फिर भारत को उप कप्तान शेख़ रशीद और कप्तान यश धुल के आउट होने से बड़े झटके लगे। कप्तान धुल ने फ़ाइनल में 17 रनों की पारी खेली। भारत एक वक्त पर 97 रन पर चार विकेट के स्कोर तक पहुंचा था। फिर राज बावा और निशांत सिंधु ने पांचवें विकेट लिए (67 रनों की) अर्धशतकीय साझेदारी निभाई। राज बावा ने बेशकीमती 35 रन बनाए। राज बावा के आउट होने के बाद निशांत सिंधु ने अपना अर्धशतक पूरा किया और भारत को जीत तक पहुंचाया।

बता दें कि विकेटकीपर दिनेश बाना ने छक्का जड़कर भारत को चार विकेट से जीत दिलाई। इसके साथ ही इंग्लैंड का 24 साल बाद अंडर-19 वर्ल्ड कप जीतने का ख़्वाब पूरा न हो सका। गौरतलब है कि मोहम्मद कैफ (साल 2000), विराट कोहली (2008), उन्मुक्त चंद (2012) और पृथ्वी शॉ (2018) के बाद यश धुल भारत को अंडर 19 विश्व कप जिताने वाले पांचवे कप्तान बन गए। फाइनल मुकाबला सर विवियन रिचर्ड्स क्रिकेट स्टेडियम में खेले गया था।

मैन ऑफ द मैच का खिताब राज बावा को मिला। बता दें कि बावा ने अपने पांच विकेट लेने के दौरान अंडर-19 वर्ल्ड कप फ़ाइनल में बेस्ट बॉलिंग फिगर का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया। उनसे पहले यह रिकॉर्ड भारत के ही अनवर अली के नाम था. जिन्होंने 2006 में 35 रन देकर पांच विकेट लिए थे। भारत की ये जीत इसलिए भी खास है क्योंकि टीम के कई खिलाड़ी प्रतियोगिता के बीच में ही कोविड से ग्रसित हो गए थे। वाकई भारत का भविष्य क्रिकेट के लिहाज से सुरक्षित है।

Join-WhatsApp-Group
To Top