Ad
Rudraprayag News

केदारनाथ यात्रा नियम, एक समय में छह हेलीकॉप्टर ही भरेंगे उड़ान

अल्मोड़ा से पिथौरागढ़ के लिए एक और हेलीसेवा शुरू करने की तैयारी
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून: सोर्स: केदारनाथ हेली सेवा की सुरक्षा को लेकर सवाल उठे तो उत्तराखंड नागरिक उड्डयन विकास प्राधिकरण (यूकाडा) ने कहा है कि हेली सेवा का संचालन नियमों का अनुसार हो रहा है। जो व्यवस्था यात्रियों की सुरक्षा के लिए बनाई गई है उनका पालन अनिवार्य रूप से किया जाएगा। इसके अलावा आगामी चारधाम यात्रा के लिए भी नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) के मानकों के अनुसार हेली सेवा दी जाएगी।

यूकाडा की मुख्य कार्यकारी अधिकारी सोनिका ने कहा कि केदारनाथ यात्रा में आए श्रद्धालुओं की सुरक्षा अहम है। उस घेरे को बढ़ाने के लिए सभी उपाय किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि केदारघाटी में एक बार में 6 से अधिक हेलीकॉप्टर उडान नही भरेंगे। मुख्य कार्यकारी अधिकारी शटल की सख्त रोस्टरिंग की जाती है। सुरक्षा उपाय के लिए सभी ऑपरेटरों के पास दोनों हेलीपैड में अपने कर्मचारी तैनात हैं। इसके अलावा तैनात कर्मचारी रेडियो के माध्यम से टच में रहते हैं। यात्रा से जुड़ा हर अपडेट नियमित रूप से भेजा जाता है। हेलीपैड पर विंड सॉक्स के माध्यम से विंड इंडिकेटर लगाए गए हैं। हेली सेवा संचालन की डीजीसीए नियमित सुरक्षा ऑडिट करता है। 

यह भी पढ़ें 👉  केदारनाथ की पहाड़ियों में आया एविलांच, वीडियो देखें

बता दें कि केदारनाथ यात्रा के लिए हेली सेवा की बेहद डिमांड रहती है। इस बार भी पहले दिन ही रिकॉर्ड टिकटों की बिक्री हुई है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि साल 2022 की चारधाम यात्रा के लिए श्रद्धालू कितने उत्साहित हैं। केदारनाथ धाम के द्वार 6 मई को खुलने जा रहे हैं। रुद्रप्रयाग से लेकर केदारनाथ तक के होटल कारोबारियों को एडवांस बुकिंग मिलने लगी है। केदारनाथ धाम में कई होटल कारोबारी मई तक की बुकिंग फुल होने की बात कह रहे हैं। पिछले दो साल से कोविड की मार झेल चुके कारोबारियों के चेहरे खिले हुए हैं।

Join-WhatsApp-Group
To Top