Champawat News

बड़ी खबर…CM धामी को खटीमा से हराने वाले भुवन कापड़ी को मिली चंपावत उपचुनाव की जिम्मेदारी


Ad
Ad

चंपावत: बतौर मुख्यमंत्री अपने गृहक्षेत्र खटीमा से हारने के बाद अब फिर सीएम बने धामी के सामने चंपावत एक चुनौती है। हालांकि, कई सियासी आवाजों का मानना है कि उन्हें इस सीट से ज्यादा दिक्कत नहीं होगी। लेकिन कांग्रेस ने भी कमर कस ली है। कांग्रेस ने खटीमा के विजेता भुवन कापड़ी को एक बार फिर मुख्यमंत्री धामी के खिलाफ बड़ी जिम्मेदारी दी है।

Ad
Ad

बता दें कि कांग्रेस द्वारा चंपावत उपचुनाव के लिए उपनेता प्रतिपक्ष भुवन कापड़ी, अल्मोड़ा विधायक मनोज तिवारी और लोहाघाट विधायक खुशाल सिंह अधिकारी को पर्यवेक्षक बनाया है। पर्यवेक्षकों का काम होगा कि वह पूरे चंपावत विधानसभा क्षेत्र की नब्ज टटोल कर एक रिपोर्ट तैयार करेंगे। जिसे पार्टी हाईकमान को सौंपा जाएगा।

इसके बाद इसी रिपोर्ट के आधार पर पार्टी चंपावत से अपना प्रत्याशी घोषित करेगी। कथित तौर पर गुटबाजी के काले बादलों के साये में कांग्रेस इस चुनाव को एक होकर लड़ती दिख रही है। जब बीते रोज पार्टी मुख्यालय में प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने बैठक बुलाई तो पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य, आदि सभी वरिष्ठ और अहम नाम शामिल थे।

इस बैठक में पार्टी ने रणनीति पर बातचीत की। प्रदेश महामंत्री संगठन ने बताया कि हर पार्टी की हर जरूरी कड़ी से राय ली जाएगी। चंपावत में पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की जाएगी। इसके बाद ही प्रत्याशी तय किया जाएगा। वहीं, खटीमा के विधायक भुवन कापड़ी को पर्यवेक्षक नियुक्त करने के पीछे का बड़ा कारण ये है कि वह अभी खुद ही सीएम धामी को हराकर आए हैं। कहीं ना कहीं, कांग्रेस माइंड गेम में भी आगे निकलने की फिराक में है।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top