Nainital-Haldwani News

कमिश्नर दीपक रावत को लेट लतीफी नहीं पसंद, अब सीधे ब्लैकलिस्ट होंगे ठेकेदार!

File Photo
Ad
Ad
Ad
Ad

नैनीताल: कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने एक बार फिर अपने कार्य करने के अंदाज से एक नजीर पेश की है। आयुक्त दीपक रावत ने साफ कहा कि निर्माण कार्यों में लेट लतीफी हुई तो ठेकेदार को ब्लैकलिस्ट किया जाए। बता दें कि कैम्प कार्यालय में कार्यदायी सस्थाओं द्वारा कुमाऊं मंडल में 5 करोड़ की अधिक लागत से होने वाले 12 विकास कार्यो की कुल लागत 57278.26 लाख धनराशि की समीक्षा बैठक की।

आयुक्त दीपक रावत ने बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए कि जो भी कार्य किये जाएं, सभी कार्य मानकों के अनुसार किये जाएं। उन्होंने कहा दो ब्रिजों का कार्य काफी समय से लम्बित चल रहा है। ये काम फरवरी 2023 तक पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही मंडल में जहां रेलवे क्रांसिंग के ऊपर ब्रिज बनने हैं, उन्हें रेलवे द्वारा अुनमति प्रदान कर दी गई हैं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि जल्द इन परियोजनाओं पर कार्य प्रारम्भ कर दिया जाए। ताकि आम जनमानस को इसका लाभ मिल सके।

गौरतलब है कि ज्योलिकोट से काकड़ीघाट सडक आपदा के दौरान क्षतिग्रस्त हो गई थी। कुमाऊं कमिश्नर रावत ने साफ कहा कि शासन द्वारा इस संबंध में अनुमति प्रदान कर दी है। जल्द ही इसके लिये भी टेंडर हो जाएंगे। बता दें कि रामनगर-मोहानवाला के बीच दो ब्रिज का कार्य काफी समय से लम्बित चल रहा है। जिस पर आयुक्त रावत बिफर पड़े और उन्होंने ठेकेदार के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: अब आपको नहीं दिखेंगे बिजली के तार, 270 करोड़ का खर्चा होगा!

उन्होंने कहा ठेकेदार द्वारा कार्य समय से पूर्ण नहीं करने पर ठेकेदार को ब्लैक लिस्टेड करने के निर्देश दिए। पनुवानौला-पनार-दनिया-घाट की सडक पर संतोषजनक कार्य ना होने पर आयुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कार्य पूर्ण कर गुणवत्ता का विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने अधीक्षण अभिन्यता अरूण कुमार पाण्डे को निर्देश दिए कि ठेकेदारों के कार्य की मॉनिटरिंग प्रतिदिन की जाए। साथ ही कार्यों की प्रगति रिपोर्ट की फोटोग्राफ एवं वीडियो व्हाट्सएप के माध्यम से उपलब्ध कराना भी सुनिश्चित करें।

Join-WhatsApp-Group
Ad
To Top