Nainital-Haldwani News

नए आंकड़े सामने आए,हल्द्वानी में वैक्सीनेशन 130 प्रतिशत,जिले में जल्द होगा 100 प्रतिशत



हल्द्वानी: नैनीताल जिले में अगले 15 दिनों में कोरोना वैक्सीनेशन 100 प्रतिशत हो जाएगा। जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने सम्बन्धित अधिकारियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कही। उन्होंने कहा कि जिले में अभी 78 प्रतिशत लोगो का कोविड वैक्सीनेशन हुआ है। उन्होंने कहा कि सम्बन्धित अधिकारी आपसी समन्वय के साथ कार्य करें और सभी लोगो को कोविड वैक्सीनेशन का प्रथम डोज़ लगाना सुनिश्चित करें।

Ad

डीएम ने इसके अलावा सभी मोबाइल वैक्सीनेशन टीमों घर घर जाकर जागरूक करने को कहा है। सम्बन्धित उप जिलाधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में मोनीटरिंग करना सुनिश्चित करें साथ प्रतिदिन वैक्सीनेशन की रिपोर्ट जिला कार्यालय व कोविड कन्ट्रोल रूम को दें। उन्होंने कहा कि संज्ञान में आ रहा है कि ओखलकाण्डा व रामगढ़ में निर्वाचक नामावली के अनुसार कई परिवार विस्थापित हुए हैं, इसलिए इन क्षेत्रों का वैक्सीनशन प्रतिशत कम आ रहा है जबकि हल्द्वानी क्षेत्र में वैक्सीनेशन प्रतिशत 130 प्रतिशत है।

यह भी पढ़ें 👉  डीजीपी अशोक कुमार ने हल्द्वानी में तैनात आरती पोखरियाल को पदक देकर किया सम्मानित

उप जिलाधिकारियों व एमओआईसी तथा बूथ लेवल कर्मचारियों को निर्देश दिये कि वह बूथवार निर्वाचक नामावलियों से मिलान करते हुए क्षेत्र में मौजूद सभी परिवारों का कोविड वैक्सीन लगाना सुनिश्चित करें। उन्होंने उप जिलाधिकारी व एमओआईसी कालाढुंगी को निर्देश देते हुए कहा कि इन क्षेत्रों में वैक्सीनेशन का प्रतिशत कम दिखाई दे रहा है इसलिए इन क्षेत्रों में फोकस करते हुए विशेष अभियान चलाया जाये।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी से कांग्रेस प्रत्याशी सुमित हृदयेश ने मां इंदिरा हृदयेश की फोटो साथ रखकर भरा नामांकन

वैक्सीनेशन नियमित जागरूकता व प्रचार-प्रसार किया जाये साथ जनप्रतिनिधियों, गणमान्यों, स्वयं सेवको, स्वयं सेवी संस्थाओं आदि से सहयोग लिया जाये। मुख्य शिक्षा अधिकारी ऑनलाइन क्लासों के माध्यम से विद्यार्थियों का जागरूक करना सुनिश्चित करें कि वे अपने परिवार पड़ोस में जो भी व्यक्ति वैक्सीनेशन नहीं कराया है, वे अपना वैक्सीनेशन करायें। जिलाधिकारी ने शतप्रतिशत वैक्सीनेशन कराने हेतु सभी अधिकारी-आरटीओ, डीपीआरओ, मुख्य शिक्षा अधिकारी, एमओआईसी समन्वय से कार्य करें तथा जहॉ कहीं पर वैक्सीनेशन हेतु वाहन या ग्राम विकास अधिकारी व पटवारी आदि की जरूरत पड़ती है तो आपसी समन्वय से कार्य करें।

To Top