Uttarakhand News

दिल्ली मार्ग का किराया पूरा लिया पर नहीं दिया यात्रियों को टिकट, रोडवेज के अच्छे दिन दूर हैं!

Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून: उत्तराखंड परिवहन मंत्री चंदन राम दास ने रोडवेज के अच्छे दिन आने की बात कही हैं। उन्होंने पद संभालने के साथ ही कहा था कि कुछ कड़े फैसले लिए जाएंगे जो यात्रियों को बेहतर सुविधाएं देंगे और रोडवेज की आय भी अच्छी होगी। लेकिन यहां कुछ और ही चल रहा है। रोडवेज बसों के परिचालक टिकट की धांधली लगातार कर रहे हैं। पहले नॉन स्टॉप बस के नाम पर यात्रियों से गंतव्य की बजाए पूरी यात्रा का टिकट लिया जा रहा था और अब मशीन खराब होने की बात यात्रियों से कहकर उन्हें टिकट नहीं दिया जा रहा है। उत्तराखंड परिवहन निगम ने दो परिचालकों को निलंबित किया है।

कुछ दिन पहले एमडी से ज्यादा किराया लेने का मामला सामने आया था और इसके बाद वॉल्वो बसों की चैकिंग शुरू हुई थी। इसी के तहत दून-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग पर पुरकाजी में रुड़की डिपो की प्रवर्तन टीम ने चेक किया। दिल्ली से पांच बजे चली वॉल्वो (यूके07-पीए-4401) में देहरादून आ रहे यात्री के पास टिकट नहीं था। बस पर परिचालक विजय बड़थ्वाल तैनात था।

परिचालक ने मशीन खराब होने की बात कहकर यात्री से किराया तो लिया लेकिन टिकट नहीं दिया। ऐसे ही कुछ दूसरी बस (यूके07-पीए-4399) में भी हुआ जो देहरादून से दिल्ली जा रही थी। दिल्ली से देहरादून तक का किराया 809 रुपए है। इस बस में परिचालक मोहलू राम तैनात था। परिचालक ने यात्री को टिकट नहीं दिया। बता दें कि 300 रुपये से ऊपर की राशि के बेटिकट में परिचालक को निलंबित करने का प्रविधान है। ऐसे में महाप्रबंधक संचालन दीपक जैन ने दोनों परिचालक को निलंबित करने का आदेश दिया है।

यह भी पढ़ें 👉  पूरे भारत में किरकिरी के बाद उत्तराखंड में बड़ा फैसला, आ गई शिक्षकों की शामत, पढ़ें

Join-WhatsApp-Group
Ad
To Top