Rudraprayag News

आपदा के बाद भी चारधाम पहुंच रहे हैं तीर्थयात्री, देवभूमि की सलामती की मांग रहे हैं दुआ


Ad
Ad
Ad
Ad

रुद्रप्रयाग: आस्था मजबूत है तो उसे किसी भी तरह की परेशानी नहीं डिगा सकती। उत्तराखंड में इसकी बानगी देखने को मिली है। बाबा बदरी-केदार के प्रति भक्तो की आस्था ने आपदा को परस्त कर दिया है। आपदा के बाद शुरू हुई चारधाम यात्रा में रिकॉर्ड श्रद्धालु शामिल हुए। सर्वाधिक 10 हजार से भी अधिक श्रद्धालु केदारनाथ धाम पहुंचे।

गौरतलब है कि देवभुमि में एक बार फिर से बारिश ने अपना रौद्र रूप दिखाकर आपदा से काफी नुकसान पहुंचाया है। गढ़वाल से लेकर कुमाऊं मंडल में तबाही के मंजर साफ देखे जा सकते हैं। लोग अब भी जहां तहां से मदद की गुहार लगा रहे हैं। मगर इस आपदा के मुश्किल समय में भी भगवान के ऊपर से लोगों का भरोसा नहीं उठा है।

बता दें कि देश के कोने कोने से श्रद्धालु अब भी चारधाम यात्रा के लिए आ रहे हैं। थोड़े व्यवधान के बाद चारधाम यात्रा सुचारू कर दी गई है। इस बीच रिकॉर्डतोड़ संख्या में भक्तजन चारों धाम में पहुंच रहे हैं। भक्तों की सर्वाधिक संख्या केदारनाथ धाम में रही। जहां करीब 10750 श्रद्धालुओं ने बाबा केदार का दर्शन किया और उत्तराखंड की सलामती की प्रार्थना की।

धाम – श्रद्धालुओं की संख्या

श्री केदारनाथ धाम – 10750

श्री बदरीनाथ धाम – 1785

श्री गंगोत्री धाम – 1150

श्री यमुनोत्री धाम – 2631

नोट: कुल 16316 श्रद्धालुओं ने दर्शन किए

जानकारी के मुताबिक बदरीनाथ धाम के लिए बीच बीच में मार्ग अवरुद्ध रहा, जिससे लोगों को परेशानी हुई। लेकिन उसे खोलने में ज्यादा समय नहीं लगा। बता दें कि ऋषिकेश चारधाम बस टर्मिनल और हरिद्वार बस अड्डे से तीर्थ यात्रियों का चार धाम को प्रस्थान जारी है। सार्वजनिक वाहनों के अलावा निजी वाहन भी चारधाम को रवाना हो रहे हैं। 

इसके साथ ही अच्छी बात ये भी है कि श्री केदारनाथ धाम के लिए हवाई सेवा भी शुरू हो चुकी है। सरकार का कहना है कि चारधाम यात्रा के रूट में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनात की गई है। साथ ही प्रशासन को हमेशा अलर्ट रहने की सख्त हिदायत दी गई है। यात्रा रूट ब्लॉक होते ही खोलने के सख्त निर्देश भी दिए गए हैं। 

Join-WhatsApp-Group
To Top