Pithoragarh News

पिथौरागढ़ के थल में तेंदुए ने ग्रामीण को उतारा मौत के घाट, आठ दिन बाद जंगल से मिला शव


Ad
Ad
Ad
Ad

पिथौरागढ़: जनपद के दूरस्थ इलाकों में जंगली जानवरों का आतंक हमेशा बना रहता है। थल क्षेत्र के डुंगरी गांव से तेंदुए के आतंक की खबर सामने आई है। गांव के एक ग्रामीण को तेंदुए ने अपना शिकार बना लिया। व्यक्ति का शव जंगल में मिला है। बता दें कि इस मामले के बाद से ही गांव में हड़कंप मच गया है। गांववासी दहशत के माहौल में जी रहे हैं।

डुंगरी गांव के निवासी राजेंद्र सिंह मेहता पुत्र कान सिंह मेहता लालघाटी में कई सालों से काम करते थे। वह एक जनवरी को अपनी दुकान बंद कर के शाम आठ बजे अपने गांव के लिए रवाना हुए। लेकिन जब वह घऱ नहीं पहुंचे तो परिवारजनों नो तलाशबीन शुरू की। आठ दिन बाद अब रविवार को गांव के युवकों ने सीसीटीवी की मदद से खोजबीन की तो सड़क से दो सौ मीटर नीचे एक झाड़ी में उसका क्षत-विक्षत शव मिला।

यह भी पढ़ें 👉  पिथौरागढ़ की मनीषा पंत को मिली पुलिस टेलीकॉम डिपार्टमेंट में नियुक्ति

बताया जा रहा है कि देखने में उसकी मौत तेंदुए के शिकार के रूप में प्रतीत हो रही है। तेंदुए ने मृतक के चेहरे और पेट वाले हिस्से के सारे मांस को नोंचकर खाया है। जब सूचना मिली तो थल थानाध्यक्ष हीरा सिंह डॉगी पुलिस टीम कॉस्टेबल रमेश शर्मा, गणेश राम तथा वन विभाग के वन बीट अधिकारी नवीन चंद्र जोशी,योगेश कुमार घटनास्थल पर पहुंच गए। थानाध्यक्ष हीरा सिंह डॉगी ने बताया कि सोमवार सुबह शव का पंचनामा भर कर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय को भेज दिया है।

Join-WhatsApp-Group
To Top