National News

एक महीने में रेलवे ने बिना टिकट साढ़े तीन लाख लोगों को पकड़ा, कमाई हुई 20 करोड़ से ज्यादा



नई दिल्ली: कोरोना की पहली वेव के दौरान रेलवे ने खतरे को देखते हुए संचालन को रोक दिया था। कई महीनों बाद संचालन शुरू हुआ तो गैरकानूनी तरीके से यात्रा करने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है और ऐसे में रेलवे अब खास अभियान शुरू कर रहा है। रेलवे बिना टिकट यात्रा (without Ticket Travel) करने वालों के खिलाफ अभियान चला रहा है। इसी कड़ी में पूर्व मध्य रेल के अंतर्गत आने वाले सभी पांच मंडलों में चेकिंग ड्राइव चलाया जा रहा है।

Ad

आंकड़ों को मुताबिक पिछले 1 महीने में ईसीआर (ECR) के सभी मंडलों में चेकिंग के दौरान साढ़े तीन लाख से ज्यादा ऐसे लोगों को पकड़ा गया है, जो ट्रेनों में बिना टिकट यात्रा कर रहे थे।पिछले महीने यानी नवंबर, में बिना टिकट यात्रा के कुल 03 लाख 49 हजार 340 मामले सामने आए।

जिन से जुर्माने के रूप में 20 करोड़ 10 लाख से अधिक का राजस्व प्राप्त हुआ. रेल अधिकारियों के अनुसार, कोविड काल के पूर्व नवंबर, 2019 की तुलना में नवंबर, 2021 में बिना टिकट यात्रा कर रहे लोगों से वसूला गया राजस्व 40.67 प्रतिशत अधिक है।

पूर्व मध्य रेल (East Central Railway) हाजीपुर जोन के महाप्रबंधक अनुपम शर्मा द्वारा समय-समय पर उच्चस्तरीय बैठक में यह निर्देश जारी किया है कि बिना टिकट अथवा उचित प्राधिकार के यात्रा करने वाले यात्रियों पर कड़ी निगाह रखी जाए। जिससे उचित टिकट के साथ यात्रा करने वाले यात्रियों को किसी प्रकार की कठिनाइयों का सामना ना करना पड़े। इसी क्रम में पूर्व मध्य रेल के पांचों मंडलों में अधिकारियों की अलग-अलग टीम बनाकर स्टेशन एवं ट्रेनों में विशेष टिकट जांच अभियान चलाया जा रहा है। बता दें कि हाल ही में रेलवे ने ट्रेनों से कोविड-19 स्पेशल ट्रेन का टैग भी हटा लिया। लेकिन ट्रेनों का परिचालन शुरू होने के बाद बिना टिकट सफर करने वाले यात्रियों की भी काफी भरमार हो गई। उन्होंने बताया कि रेलवे का ये अभङियान इसी तरह से जारी रहेगा।

To Top