Tourism

चार धाम और हेमकुंड साहिब यात्रा में पंजीकरण से यात्रियों को होगी आसानी


Char Dham Yatra: Char Dham Yatra Registration:

उत्तराखंड के चारों धाम केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में दर्शन के लिए हर वर्ष लाखों भक्तों का सैलाब उमड़ता है। इन भक्तों में प्रदेश के साथ-साथ देश के अन्य कई राज्यों से भी भक्त देवभूमि पधारते हैं। ऊँचे पर्वतीय क्षेत्रों में स्थित इन सभी धामों के कपाट भक्तों के लिए उचित समय पर खोले जाते हैं। सर्दियों में बर्फ के कारण इन सभी धामों के कपाट बंद होते हैं, जिसके कारण उस समय स्थल पर दर्शन नहीं होते। हर श्रद्धालु और दर्शनार्थी की सुविधा के लिए चार धाम यात्रा पंजीकरण के प्रति सभी श्रद्धालुओं की जागरूकता बढ़ रही है। पंजीकरण के माध्यम से सभी श्रद्धालुओं की स्पष्ट संख्या का पता लगता है। इस पारदर्शिता से सभी धामों पर यात्रियों के लिए उचित व्यवस्था का प्रबंध करने में सरकार और तीर्थ प्रबंधकों को सहायता मिलेगी।

आपको बता दें कि पर्यटन विभाग ने रविवार को अपनी वेबसाइट पर यात्रा के लिए पंजीकरण प्रक्रिया शुरू कर दी है। इससे पहले अब तक यमुनोत्री धाम के अलावा अन्य सभी तीन धामों के कपाट खुलने की तिथि घोषित कर दी गई थी। पर्यटन मंत्रालय यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने की तिथि की प्रतीक्षा में था। इस तिथि की घोषणा होते ही वेबसाइट पर पंजीकरण आरम्भ हो चुके हैं। इन चार धामों के अलावा श्रद्धालु इस बार हेमकुंड साहिब यात्रा के लिए भी अपना पंजीकरण करा सकते हैं। अगर आप भी संकोचरहित यात्रा करने का मन बना रहे हैं तो आप भी अधिकृत वेबसाइट https://registrationandtouristcare.uk.gov.in पर जाकर पंजीकरण कर सकते हैं।

पर्यटन सचिव सचिन कुर्वे का कहना है कि “चार धाम यात्रा को लेकर तैयारियां तेजी से पूरी की जा रही हैं। यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं के लिए पंजीकरण के लिए वेबसाइट खोल दी गई है। अब श्रद्धालु पंजीकरण करा सकते हैं।” आपको बता दें कि केदारनाथ के कपाट 10 मई, बद्रीनाथ के कपाट 12 मई, गंगोत्री के कपाट 10 मई, यमुनोत्री के कपाट 10 मई और हेमकुंड साहिब के कपाट 25 मई को सभी भक्तों के लिए दर्शन के लिए खोल दिए जाएंगे।

To Top