Haridwar News

उत्तराखंड में फिल्मी स्टाइल में हुई डकैती, फैक्ट्री से लाखों का सामान उड़ाया

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

हरिद्वार: आजकल चोरी डकैती की खबरें तो हम अक्सर पढ़ते ही रहते हैं। अपराधों के सिलसिले से तो अब देवभूमि भी अछूती नहीं रह गई है। डकैती का एक अनोखा मामला अभी हाल ही में हरिद्वार से सामने आया है, जहां 14 बदमाशों ने एल्युमिनियम बनाने वाली फैक्ट्री के सुरक्षाकर्मियों को बंदी बनाकर लाखों का सामान उड़ा लिया।

मामला हरिद्वार के सिडकुल थाना क्षेत्र के सलेमपुर महदूद स्थित लोलेड कंपनी का है। लोलेड कंपनी को बीते वर्ष ही फाइन ऑटोमेटिव एंड इंडस्ट्रियल रेडिएटर्स नामक कंपनी ने खरीद लिया था। इस कारण से फैक्ट्री अभी बंद ही थी। परंतु उसमें लाखों का सामान अंदर रखा हुआ था। फैक्ट्री के आगे और पीछे के चारों मुख्यद्वारों पर अक्सर एक एक गार्ड मौजूद रहता है। डकैती की रात भी कुछ ऐसा ही था और अमित, मनीष, पदम एवं सुरेंद्र चारों मुख्यद्वारों पर तैनात थे।

देर रात एक बजे 14 नकाबपोश बदमाश कंपनी के अंदर घुस आए। बदमाशों के पास हथियार एवं लोहे की रॉड भी थी। सुरक्षाकर्मियों के रोकने पर बदमाशों ने उनके ऊपर हमला कर उन्हें बंदी बना लिया। जिसके पश्चात बदमाश 4-5 चक्करों में ही फैक्ट्री से लाखों का समान अपने वाहन में भरकर रफ़ू चक्कर हो गए। सुबह पांच बजे के करीब सुरक्षाकर्मियों ने जैसे तैसे बंदी मुक्त होकर फील्ड ऑफिसर द्वारा पुलिस अधिकारियों को 7.30 बजे के करीब सूचना दी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: सरकारी कर्मी ने हड़पे करीब 32 लाख रुपए, रिश्तेदारों को बांट दिए

सूचना मिलने के बाद पुलिस प्रशासन में हंगामा मच गया। 11.30 बजे के करीब एसपी क्राइम रेखा यादव समेत सीओ बहादुर सिंह चौहान ने घटना स्थल पहुंच कर मामले का जायजा लिया। एसएसपी अजय सिंह तक जब यह खबर पहुंची तो उनका कहना था कि सिडकुल थाना प्रभारी प्रमोद उनियाल एवं रात्रि अधिकारी उप निरीक्षक बारू सिंह चौहान द्वारा डकैती को चोरी का मामला बताते हुए सूचना देने में देरी हुई थी। जिस कारण से प्रमोद उनियाल एवं बारू सिंह चौहान पर घटना छुपाने और अपराध को कम करके बताने हेतु उचित कार्यवाही की जाएगी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी खानचंद मार्केट में कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने पकड़ा अवैध निर्माण... ये थी पूरी कहानी

डकैती मामले पर एसपी रेखा यादव एवं एसएसपी अजय सिंह का कहना है कि आरोपियों के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और जल्द ही उन्हें गिरफ्तार भी कर लिया जाएगा। सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, मेरठ समेत यूपी के कई जिलों में छानबीन जारी है और अभी तक समान खरीदने वाले कबाड़ी समेत 3 आरोपी भी पकड़े भी जा चुके हैं। पुलिस टीम के अनुसार जल्द ही इस मामले का पूरा खुलासा किया जाएगा।

To Top