Rudraprayag News

केदारनाथ धाम के लिए हो गई है हेली सेवा की शुरुआत, विंडो 15 अक्टूबर तक खुली है


मिनटों में पूरा होगा अल्मोड़ा से हल्द्वानी तक का सफर,केंद्र सरकार ने हेली सेवा को दी हरी झंडी

देहरादून: इंतजार खत्म हुआ… चारधाम यात्रा जाने वाले यात्रियों को हेली सेवा के शुरू होने का इंतजार था। एक अक्टूबर यानी शुक्रवार से सेवा शुरू हो गई है। कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते हेली सेवा बंद थी और इसके बाद नैनीताल कोर्ट ने यात्रा पर रोक लगा दी थी। पिछले महीने 16 सितंबर को कोर्ट ने यात्रा से बैन हटाया था और 18 सितंबर से यात्रा को शुरू किया गया। केदारनाथ धाम जाने वाले यात्रियों के लिए 28 सितंबर से ऑनलाइन हेली सेवा बुकिंग शुरू कर दी गई थी। यह सेवा पवनहंस, आर्यन, थम्बी, क्रिस्टल और ऐरो देगी।

रुद्रप्रयाग के जिलाधिकारी मनुज गोयल ने बताया कि नागरिक उड्डयन निदेशालय (डीजीसीए) की टीम हेलीपैड का निरीक्षण किया। सेवा संचालित करने वाली कंपनियां सेवा देने के लिए तैयार हैं। पहले नौ कंपनियां हेली सेवा दे रही थी लेकिन अब पांच कंपनियां सेवा देगी। उन्होंने बताया कि सिरसी से केदारनाथ 4680 रुपए प्रति सवारी, फाटा से केदारनाथ 4720 रुपए प्रति सवारी और गुप्तकाशी से केदारनाथ 7750 रुपए किराया होगा। यह किराया पूरी यात्रा का है। तीर्थ यात्री जीएमवीएन की हेली सर्विस वेबसाइट http://heliservices.uk.gov.in पर टिकट बुक करा सकते हैं।

गढ़वाल मंडल विकास निगम के बुकिंग इंचार्ज संजय सिंह ने बताया कि हेली सेवाओं के लिए 28 सितंबर से बुकिंग शुरू हो गई है। फिलहाल 15 अक्टूबर तक ऑनलाइन टिकट बुक किए जा रहे हैं। एक दिन में अधिकतम 480 श्रद्धालु ही हेलीकाप्टर से यात्रा कर पाएंगे। हेली सेवा से यात्रा के लिए अब तक 1348 यात्री बुकिंग करा चुके हैं। वहीं एक दिन में आठ सौ यात्री केदारनाथ धाम जा सकते हैं। इसके लिए तीर्थयात्रियों को उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड की वेबसाइट पर जाना होगा और टिकट बुक करना होगा।

Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Ad
Ad

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top