Nainital-Haldwani News

कारगिल युद्ध में शहीद हुए थे रामनगर निवासी रामप्रसाद ध्यानी, अब बेटा कर रहा है देश सेवा


कारगिल युद्ध में शहीद हुए थे रामनगर निवासी रामप्रसाद ध्यानी, अब बेटा कर रहा है देश सेवा

रामनगर: प्रदेशवासियों में देश सेवा का को जज्बा है, वो देखते ही बनता है। किसी किसी परिवार में तो सेना में जाने के लिए तत्पर है। कारगिल में पिता की शहादत के बाद देश सेवा का जुनून लिए सेना में भर्ती हुए अजय ध्यानी भी प्रदेश का नाम गर्व से ऊंचा कर रहे हैं।

Ad

मूल रूप से गांव डांडातौली, पोस्ट तोल्यूडांडा तहसील धुमाकोट पौड़ी गढ़वाल के निवासी 17वीं गढ़वाल राइफल्स में लांसनायक रामप्रसाद ध्यानी पीरुमदारा क्षेत्र हाथीडंगर के रहने वाले थे। रामप्रसाद ध्यानी कारगिल युद्ध में दुश्मनों से लोहा लेते वक्त 25 जुलाई 1999 को शहीद हुए थे।

यह भी पढ़ें 👉  पर्यटकों के लिए अच्छी खबर, नैनीताल समेत 15 गेस्ट हाउस की बुकिंग में मिलेगी 75 फीसदी छूट, शर्तें लागू

शहीद रामप्रसाद ध्यानी अपने पीछे परिवार में पिता सकलानंद, माता सिदोरी देवी, पत्नी जयंती देवी, दो पुत्र अंकित ध्यानी व अजय ध्यानी और एक पुत्री ज्योति ध्यानी को छोड़ गए। पिता व माता अब छोटे बेटे सुबोध के साथ रहते हैं। पत्नी जयंती देवी व बच्चों को पीरूमदारा में पेट्रोल पंप मिला है।

यह भी पढ़ें: विजय दिवस: कारगिल युद्ध की इतिहास किताब पर अमर हो गए उत्तराखंड के 75 जवान

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी की बेटी इदित्री गोयल ने तैयार किए हैं टोक्यो ओलंपिक के वस्त्र

एक बेटी की शादी करा चुकी जयंती देवी पति की शहादत के बाद टूट जरूरी गई थी लेकिन उन्होंने अपने बच्चों को भी देश सेवा के जज्बे के साथ पाल पोस कर बड़ा किया। जयंती देवी की इच्छा और हिम्मत के आधार पर ही अब छोटा बेटा पिता का सपना पूरा करने के लिए सेना में भर्ती हो गया है। अजय ध्यानी इस समय अलवर में देश की सेवा कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी विधानसभा सीट पर बदले का रण...सुमित व जोगिंदर में किस के सिर सजेगा ताज ?

शहीदों के परिवारों का यह हौसला ही देवभूमि के वासियों को हमेशा गर्व महसूस कराता है। बता दें कि दूसरी तरफ शहीद के परिवार जन हाथीडंगर वाली सड़क को शहीद के नाम पर रखने के मांग भी कर रहे हैं। लिहाजा देश सेवा में न्योछावर हो चुके रामप्रसाद ध्यानी और उनके बेटे की यह कहानी वाकई एक मिसाल है।

यह भी पढ़ें 👉  नामांकन का आखिरी दिन...भाजपा ने अबतक एक सीट पर घोषित नहीं किया है अपना उम्मीदवार

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी से दिल्ली के लिए शुरू हुई वॉल्वो बसें, Timing जरूर नोट करें

यह भी पढ़ें: पर्यटकों से भरे वाहन पर गिरी पहाड़ की चट्टान, 9 की मौत और तीन घायल

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी: इंग्लैंड में मयंक मिश्रा का जलवा,5.3 ओवर में 7 रन देकर 5 विकेट झटके

यह भी पढ़ें: दिल्ली में उत्तराखंडियों ने उठाई भू-कानून की मांग, 1UK टीम ने शुरू की नई मुहिम

To Top