Nainital-Haldwani News

पर्यटकों को एक छत में मिलेगा सारा सामान, नैनीताल हाईवे पर “प्रमोद दा” ने शुरू की पहाड़ी दुकान

Ad
Ad
Ad
Ad

हल्द्वानी: आज हम आपके सामने एक बार फिर स्वरोजगार से जुड़ी खबर लेकर आए हैं। अपने पहाड़ और अपने लिए काम करने के मकसद में एक शख्स इतना खो गया कि उन्होंने अपनी दिल्ली की जिंदगी को बाय-बाय कर पहाड़ों की जिंदगी को चुना। हल्द्वानी के रहने वाले प्रमोद तड़ागी की पहाड़ी होने और पहाड़ की दुकान खोलने की कहानी बेहद दिलचस्प है। उन्होंने नैनीताल हाईवे, जिसे सभी लोग भुजियाघाट के नाम से जानते हैं… वहां पर कसार पहाड़ की दुकान शुरू की है। मकसद उत्तराखंड में रहना और अपने लोगों के काम को महानगरों तक पहुंचाना। पेशे से इंजीनियर प्रमोद तड़ागी को खुद नहीं पता था कि उनके जीवन का दूसरा अध्याय पहाड़ से शुरू होगा। वह जानते हैं कि नए काम में मुश्किले आने वाली हैं और वह इसके लिए तैयार भी हैं।

कैसे शुरू हुई “कसार पहाड़ी स्टोर”

मूल रूप में अल्मोड़ा के रहने वाले प्रमोद तड़ागी का परिवार अब हल्द्वानी रहता है। उन्होंने आम्रपाली कॉलेज हल्द्वानी से MCA किया और उनकी महानगर की जिंदगी शुरू हो गई। प्रमोद ने बताया कि सब अच्छा चल रहा था लेकिन मन में अपना कुछ काम करने की सोच थी। वह चाहते थे कि पहाड़ों में रहकर कुछ ऐसा करें, जिससे वह अधिक से अधिक लोगों से मिले और उत्तराखंड के बारे में बताए। लॉकडाउन ने उनके मन की इच्छा को बल दिया और फिर उन्होंने रिसर्च शुरू की। उन्होंने फैसला किया कि वह एक पहाड़ी स्टोर खोलेंगे, जहां लोगों को घर सजाने के सामान से लेकर पहाड़ी उत्पाद मिलेंगे।

स्टोर में 30 से ज्यादा पहाड़ी उत्पाद

प्रमोद ने सोशल मीडिया के माध्यम से तमाम एनजीओ और स्वरोजगार से जुड़े लोगों को संपर्क किया। सभी कुछ प्लान के अनुरूप चल रहा था तो उन्होंने नैनीताल हाईवे पर एक दुकान का चयन किया और कसार पहाड़ी स्टोर खोल दिया। उन्होंने कसार देवी के नाम पर ‘कसार द पहाड़ी’ स्टोर खोला है। उनकी दुकान में छोटे बच्चों से लेकर महिलाओं व बुजुर्गो को पसंद आने वाली सामाग्री रखीं हैं।

यह भी पढ़ें 👉  विजय हजारे: हल्द्वानी के आर्यन ने वनडे मैच में खेली 159 रनों की पारी

“कसार द पहाड़ी” स्टोर में ऐपण, जुन्याली, बद्रीनाथ मंदिर ,केदारनाथ मंदिर , टी शर्ट ,पहाड़ी कप , आरती ऐपण, जूस जैम , रिंगाल लैंप , पहाड़ी टोपी व सहित 30 से ज्यादा प्रोडक्ट मौजूद है। उन्होंने कहा कि यह सारे उत्पाद उत्तराखंड में ही बनाए गए हैं। वह एक छत के नीचे सभी पहाड़ी उत्पादों को रखना चाहते हैं ताकि पर्यटकों को पूर्ण जानकारी भी दे पाए। उन्होंने कहा कि मुझे पता है कि भविष्य में मुश्किले आएंगी लेकिन वह इसके लिए तैयार हैं। उन्हें खुशी है कि अगर उत्तराखंड स्वरोजगार हब के रूप में विकसित होगा तो उनकी भागेदारी भी उसका हिस्सा होगी। प्रमोदी तड़ागी नेे ऑनलाइन ऑर्डर व संपर्क के लिए +91 98717 54758 जारी किया है।

Join-WhatsApp-Group
Ad
To Top