Ad
Nainital-Haldwani News

मनीष बवाड़ी को मिली SSC CGLE परीक्षा में सफलता,एक बार फिर छाए TIME हल्द्वानी के छात्र

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

हल्द्वानी: कुमाऊं का द्वार हल्द्वानी शिक्षा हब के रूप में अपनी पहचान स्थापित कर रहा है। जो सुविधाएं पहले युवाओं को दूसरे राज्यों में मिलती थी, वह अब हल्द्वानी में मिल जाती हैं। स्कूल से लेकर तमाम कोचिंग संस्थान शहर में हैं। पहले युवाओं को इन्हीं के लिए दूसरे शहरों पर निर्भर रहना पड़ता था। पर्वतीय जिलों के बच्चों को सबसे ज्यादा परेशानी होती थी। अब पर्वतीय जिलो के युवा हल्द्वानी में पढ़ते हैं और आगे भी बढ़ रहे हैं। हल्द्वानी में प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए TIME कोचिंग भी अपने सफल नतीजों के चलते चर्चाओं में रहता है। संस्थान में कैट, बैंक, एसएससी, CLAT एवं आईपीएम परीक्षा की तैयारी कराई जाती है।

हल्द्वानी TIME के मनीष बवाड़ी को SSC CGLE परीक्षा में सफलता मिली है। उनकी तैनाती इनकम टैक्स असिस्टेंट पोस्ट पर होगी। इसके अलावा कमलेश नगरकोटी को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया पीओ परीक्षा में कामयाबी मिली।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में पकड़े गए तीन युवक, केवल शौक के लिए चुराते थे महंगी गाड़ियां

वहीं पिछले 2 सालों में संस्थान के करीब 20 छात्रों ने CAT परीक्षा में 90 ज्यादा परसेंटाइल की तो वहीं BANK/SSC 2021 नतीजों में संस्थान के 19 छात्र-छात्राओं को कामयाबी मिली। कुल मिलाकर पिछले चार सालों में विद्यार्थियों के कामयाब होने का आंकड़ा 200 के आसपास रहा है।

संस्थान को डायरेक्टर अंकुर महाजन कहा कि पहाड़ी क्षेत्रों में प्रतिभा की कमी नहीं हैं। कई बार प्रतिभा आर्थिक तंगी के चलते शिखर तक नहीं पहुंच पाती है। आगें बढ़ने के लिए मार्ग की जरूरत होती है और हम वही करने की कोशिश कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी से हरियाणा जाना होगा आसान, कुछ ही दिनों में शुरू होगी डायरेक्ट बस सेवा

शहर में पहाड़ी क्षेत्रों से विभिन्न परीक्षाओं की तैयारी के लिए विद्यार्थी पहुंचते हैं। इन विद्यार्थियों की कामयाबी ने शहर ने को शिक्षा हब के रूप में पहचान दे दी है। कुमाऊं ही नहीं अब पूरे राज्य में हल्द्वानी इस दिशा में तेजी से आगें बढ़ रहा है। प्रतिभा को पहचानने के लिए संस्थान की ओर से छात्रवृत्ति परीक्षा का भी आयोजन होता है।

प्रबंधक ने कहा कि टाइम की सफलता का राज स्मार्ट लर्निंग हैं। छात्रों की तरह शिक्षक भी पढ़ाने के लिए स्मार्ट कार्यशैली पर फोक्स करते हैं। युवाओं को सबसे पहले अपने भीतर के टैलेंट को पहचानना होता है। मेहनत हर कोई करता है लेकिन जो मेहनत में स्मार्ट तरीका खोजता है वो अपनी अलग राह बना लेता है।

यह भी पढ़ें 👉  बच्चे भगवान का रूप होते हैं, गौलापार वैंडी स्कूल में बच्चों की ''रामलीला''

युवाओं को सबसे पहले अपने भीतर के टैलेंट को पहचानना होता है। मेहनत हर कोई करता है लेकिन जो मेहनत में स्मार्ट तरीका खोजता है वो अपनी अलग राह बना लेता है। उन्होंने बताया कि टाइम मैनेजमेंट की महत्वता पर हम अन्य स्कूलों में जाकर काउंसिलिंग भी देते हैं। किसी भी तैयारी से पहले इस पर काम करना बेहद जरूरी है। टाइम में प्रवेश व अन्य जानकारी के लिए 8476823249,8126178328 पर संपर्क व वॉट्सएप कर सकते हैं।

Join-WhatsApp-Group
To Top