Uttarakhand News

उत्तराखंड: FTI में पढ़ने का सपना होगा साकार, युवा कलाकारों को मिलेगी 75 प्रतिशत सब्सिडी

Uttarakhand Film Policy: उत्तराखंड की धामी सरकार ने राज्य के उन युवाओं की उम्मीदों में पंख लगा दिए हैं जिनका सपना फिल्म, एक्टिंग और बड़े पर्दे पर छाना है। धामी की कैबिनेट ने उत्तराखंड फिल्म नीति-2024 को मंजूरी दी है। जिसमें यूं तो कई निर्णय लिए गए हैं लेकिन एक्टिंग से जुड़कर करियर बनाने का सपना देखने वाले स्थानीय युवाओं के भविष्य को लेकर भी बड़ा फैसला लिया गया है।

राज्य के प्रतिभावान युवाओं को फ़िल्म संस्थान पुणे, एसआरएफटीआई कोलकाता या देश के अन्य फिल्म मान्यता प्राप्त शैक्षणिक संस्थानों में छात्रवृत्ति दी जाएगी। पाठ्यक्रम पर हुए व्यय का एसटी/एससी ओबीसी को 75 फीसदी और सामान्य अभ्यर्थियों को 50 फीसदी तक छात्रवृत्ति दी जाएगी। फिल्म नीति में टैलेंट, टेक्नोलॉजी और ट्रेनिंग इन तीनों पक्षों को ध्यान रखा गया है। फिल्म नीति में टैलेंट, टेक्नोलॉजी और ट्रेनिंग इन तीनों पक्षों को ध्यान रखा गया है।

बताते चलें कि विषम भौगोलिक परिस्थितियों वाले उत्तराखंड राज्य में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है लेकिन अवसरों और उचित मंच की कमी के चलते कई बार युवा आगे आने से कतराते हैं। कई प्रतिभाशाली युवाओं की आर्थिक स्थिति मजबूत न होने के चलते भी उन्हें आगे बढ़ने का प्रोत्साहन नहीं मिल पाता। लेकिन अब देश के जाने माने फिल्म संस्थानों में पढ़ाई के खर्च की जिम्मेदारी लेकर धामी सरकार ने ऐसे युवाओं को आगे बढ़ने का शानदार अवसर दिया है जो आर्थिक तंगी की वजह से अपना करियर नहीं बना पाते। सामान्य वर्ग के युवाओं को 50 प्रतिशत और आरक्षित वर्ग के युवाओं को 75 प्रतिशत तक छात्रवृत्ति देने का फैसला लेकर सरकार ने संदेश दिया है कि अब फिल्म उद्योग में करियर बनाने वाले युवाओं की राह में कोई मुश्किल नहीं आने दी जाएगी।

हल्द्वानी नवाबी रोड निवासी रंगमंच के कलाकार पवन कांडपाल और बद्रीपुरा निवासी आर्टिस्ट विजय भट्ट के अनुसार, नई फिल्म नीति में स्थानीय युवाओं के लिए छात्रवृत्ति का प्रावधान वाकई प्रभावशाली साबित होगा। आर्थिक तंगी अब हुनर के सामने अवरोध नहीं बनेगी। इस फैसले से कई युवा फिल्म उद्योग में करियर बनाने के लिए भी आगे आएंगे।

To Top
Ad