Uttarakhand News

शिक्षक दिवस से पहले उत्तराखंड में इन शिक्षकों को बड़ा तोहफा, सीधा दस हजार रुपए बढ़ाया गया मानदेय



देहरादून: शिक्षकों को शिक्षक दिवस से पहले ही सरकार की तरफ से तोहफा मिल गया है। ऐसे गेस्ट टीचर जो उत्तराखंड के राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत हैं, उनका मानदेय सीधे दस हजार रुपए बढ़ा दिया गया है। इस बाबत सरकार ने आदेश भी जारी कर दिए हैं।

Ad

प्रदेश में गेस्ट टीचरों को लेकर काफी समय से चर्चाएं चल रही थी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की पहली कैबिनेट में फैसला भी हुआ था कि गेस्ट टीचरों का मानदेय बढ़ाया जाएगा। बता दें कि इस मानदेय से चार हजार से भी अधिक अतिथि शिक्षकों को फायदा होना था।

यह भी पढ़ें: टिहरी गढ़वाल निवासी युवक को अदालत ने मृत्युदंड की सजा सुनाई

यह भी पढ़ें 👉  आप ने उत्तराखंड में जारी की प्रत्याशियों की पांचवी लिस्ट, कांग्रेस की बागी नेत्री को भी दिया टिकट

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में बारिश का येलो अलर्ट,आपातकाल हेतु हेलीकॉप्टर भी हुए तैनात

अबतक अतिथि शिक्षकों को 15 हजार रुपए मानदेय मिलता था। मगर कैबिनेट की बैठक में लिए गए फैसले और अब शासनादेश के जारी हो जाने के बाद इसे बढ़ाकर 25 हजार रुपए किया जाएगा। साथ ही प्राथमिकता के आधार पर इन शिक्षकों की गृह जिलों में तैनाती की जाएगी। उनके पदों को भी खाली नहीं माना जाएगा।

शिक्षा सचिव राधिका झा ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं। साथ ही कहा है कि राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत गेस्ट टीचरों का 22 नवंबर वर्ष 2018 को आदेश के बाद जो मानदेय 15 हजार रुपये प्रतिमाह तय किया था, अब इसे बढ़ाकर 25 हजार रुपये किया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  वंदना कटारिया ने टोक्यो ओलंपिक में बढ़ाया था भारत का मान...अब देवभूमि की बेटी को मिलेगा पद्मश्री सम्मान

यह भी पढ़ें: MBPG छात्रसंघ के पूर्व उप सचिव रवि यादव की पुण्यतिथि,जनसेवा के सपनें को पूरा कर रही है टीम रोटी बैंक

यह भी पढ़ें: पढ़ने की उम्र में परिवार का पेट पाल रही है नन्ही बिटिया शोभा भट्ट,आइए मदद करते हैं

बता दें कि राज्यपाल की ओर से भी इसकी स्वीकृति प्रदान कर दी गई है। माध्यमिक अतिथि शिक्षक संघ के प्रदेश महामंत्री दौलत जगूड़ी ने सरकार का आभार जताया है। साथ ही मूल जिलों में टीचरों की तैनाती के बारे में भी जल्द शासनादेश जारी करने की अपील की।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी से भाजपा के जोगिंदर रौतेला ने भरा नामांकन, बोले मैं एक खुली किताब हूं...

इसके अलावा उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.धन सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश के राजकीय महाविद्यालयों में स्थायी शिक्षकों की नियुक्ति होने के कारण जो अतिथि शिक्षक हटाए गए हैं, उन्हें नए कॉलेजों में समायोजित किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड सरकार ने की कई बड़ी घोषणाएं, बिजली बिलों में इन लोगों को मिलेगा फायदा

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: पत्नी के साथ बाजार गए युवक का हुआ प्रेमिका से सामना, चप्पलों से हो गई पिटाई

To Top