Nainital-Haldwani News

नीब करौरी बाबा के आशीर्वाद से शुरू हुई भू कानून को लागू करवाने की मुहिम

नीब करौरी बाबा के आशीर्वाद से शुरू हुई भू कानून को लागू करवाने की मुहिम

नैनीताल: भू कानून की मांग और तेज हो गई है। प्रदेश के युवाओं के साथ अब महिलाएं व हर वर्ग के लोग इस मुहिम के साथ जुड़ रहे हैं। पहाड़ों को बचाने के लिए तरह तरह के अभियान चलाए जा रहे हैं। अब मंदिरों में जाकर देवताओं से भी लोगों ने गुहार लगानी शुरू कर दी है।

दरअसल उत्तराखंड की आवाम बीते कुछ समय से भू-कानून की मांग कर रही है। सभी का कहना है कि भू कानून प्रदेश के लिए बेहद जरूरी है। इसके बिना पहाड़ का अस्तित्व खतरे में पड़ सकता है। अब इसे लागू करने की मुहिम मंदिरों तक पहुंच गई है।

यह भी पढ़ें: शराब के नशे में भूल गया स्कूटी, मुखानी पुलिस से कहा सब्जी लेने गया था स्कूटी चोरी हो गई

यह भी पढ़ें: पौड़ी निवासी सूबेदार राम सिंह भंडारी जम्मू कश्मीर में शहीद

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं रेजिमेंट में तैनात हल्द्वानी निवासी जवान की मौत,9 दिन पहले पूरी हुई थी छुट्टी

बीते लंबे अरसे से अल्मोड़ा चौखुटिया निवासी शंकर सागर भू कानून की मांग कर रहे हैं। उनका कहना है कि हिमाचल की तर्ज पर यहां यह कानून लागू हो। रावत ने आंकड़ों के हवाले से बताया कि प्रदेश में 2018 तक ही एक लाख 20 हजार हेक्टेयर कृषि भूमि बिक गई थी।

शंकर सागर का मानना है कि सरकारों की लापरवाही व पहाड़ों के प्रति उदासीनता इसी तरह चलती रही तो आने वाला समय काफी खराब होगा। पिछले 12 सालों से इस अभियान से जुड़े शंकर के मुताबिक अब उन्हें हर वर्ग से बराबर का साथ मिल रहा है। बता दें कि इंटरनेट मीडिया पर भू कानून का खासा समर्थन मिला है। जिसके बाद अब जमीनी स्तर पर भी अभियान शुरू हो गए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हिमालयन डिजिटल मीडिया एसोसिएशन ने पत्रकार दिनेश पांडे को दी अहम जिम्मेदारी

यह भी पढ़ें: चंपावत में म्यूजिक स्कूल खोलना चाहते हैं पवनदीप राजन, माता-पिता को दिया सफलता का श्रेय

यह भी पढ़ें: अफगानिस्तान से अपने घर देहरादून लौटे दो लोगों ने सुनाई आपबीती, कहा ये चार दिन कभी नहीं भूलेंगे

बहरहाल अब टीम ने मंदिरों में जाकर पहाड़ों को बचाने की अर्जी लगाने की शुरुआत की है। पहले चरण में केदारनाथ, बदरीनाथ, यमुनोत्री, गंगोत्री, हेमकुंड साहिब, हरिद्वार और ऋषिकेश यानी गढ़वाल मंडल के मंदिरों में अर्जी लगा चुकी टीम अब दूसरे चरण में प्रवेश कर रही है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल एसएसपी ने शिकायत मिलने के कुछ घंटे बाद ही महिला इंस्पेक्टर को किया लाइनहाजिर

शंकर सागर ने बताया कि दूसरे चरण में कैंची मंदिर, चितई मंदिर, जागेश्वर धाम, बिनसर, बागनाथ मंदिर, हाट कालिका, पाताल भुवनेश्वर और कोटगाड़ी मंदिर में जाएंगे। बता दें कु गुरुवार को टीम ने सबसे पहले कैंची धाम में जाकर अर्जी लगाई। इस दौरान टीम के सह संयोजक अशोक नेगी और अभियान प्रभारी राजेश पेटवाल भी शामिल रहे।

यह भी पढ़ें: भीमताल में 12 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म,पुलिस आरोपी को पकड़ने के लिए मुरादाबाद पहुंची

यह भी पढ़ें: बागेश्वर में तैनात डॉ. नेहा को बधाई दीजिए, केबीसी में जीत लिए साढ़े 12 लाख रुपए

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top