Dehradun News

उत्तराखंड में Whatsapp पर हो रहा था लड़कियों का सौदा, पुलिस ने रैकेट का भंडा फोड़ा


Ad
Ad

देहरादून: देवभूमि के बड़े शहरों में देह व्यापार के धंधे लगातार बढ़ रहे हैं। हालांकि उत्तराखंड पुलिस इनपर लगाम कसने में भी कामयाब हो रही है। इस बार देहरादून से एक ऐसे गिरोह का भंडाफोड़ हुआ है, जो व्हाट्सएप के द्वारा सेक्स रैकेट चलाता था। व्हाट्सएप के द्वारा ही ग्रुप के लोग ग्राहकों को लड़कियां उपलब्ध कराते थे। यहीं से सारा सौदा तय होता था। अब पुलिस ने इस गिरोह का पर्दाफाश करते हुए एक महिला और एक युवक को गिरफ्तार कर लिया है।

Ad
Ad

एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट (एएचटीयू) की टीम ने क्लेमेनटाउन थाना पुलिस के साथ इस कार्रवाई को अंजाम दिया है। एएचटीयू के इंचार्ज एसआइ हेमंत खंडूड़ी ने जानकारी दी कि क्लेमेनटाउन क्षेत्र में देह व्यापार की शिकायत मिली थी। जिसके बिना पर पास में स्थित झील पुल के पास चेकिंग टीम को भेजा गया। चेकिंग के दौरान एक कार को रोका तो उसके चालक ने संतोषप्रद जवाब नहीं दिया तथा वो घबरा सा गया। गाड़ी में पीछे की सीट पर दो महिलाएं बैठी थीं।

जह पुलिस द्वारा सख्ती से पूछा गया तो उसने बताया कि वह कार में पीछे वाली सीट पर बैठी महिलाओं को देह व्यापार के लिए लेकर जा रहा है। थोड़ी देर में उसने सब कुछ पुलिस के सामने ही उगल दिया। पुलिस ने कार चालक सचिन कुमार मूल निवासी ग्राम शाहबाजपुर जिला मुजफ्फरपुर बिहार वर्तमान निवासी सेलाकुई देहरादून को गिरफ्तार किया। आरोपित सचिन ने कहा उसके साथ एक महिला भी ये काम करती है।

जिसके बाद पुलिस द्वारा पूजा पांडे निवासी कृष्णा पुरी जयपुर राजस्थान वर्तमान निवासी सिकंदरपुर गुड़गांव हरियाणा को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपियों ने कुबूल किया कि वे नैकरी का दिलासा देने के बाद महिलाओं और लड़कियों से देह व्यापार कराते थे। पिछले कई सालों से ये काम कर रहे थे। गुड़गांव में काम शुरू करने के बाद दोनों ने देहरादून में डेरा डाला हुआ था। सचिन ने बताया कि वह दूसरे राज्यों से युवतियां मंगवाकर उनसे देह व्यापार करवाता है।

पुलिस की जांच में पता चला कि ये पूरा देह व्यापार का धंधा व्हाट्सएप के द्वारा संचालित होता था। गिरोह से सदस्यों ने व्हाट्सएप पर ग्रुप बना रखे थे। जिसपर लड़कियों व महिलाओं को सौदा तय होता था। सौदे के बाद ही युवतियों को दिल्ली समेत अन्य राज्यों से देहरादून बुलाते हैं। ग्राहकों की इच्छानुसार उन्हें अलग-अलग होटल में छोड़ते हैं। जानकारी के मुताबिक कार से बरामद दो महिलाएं मूल रूप से हरियाणा व मध्य प्रदेश की रहने वाली हैं और वर्तमान में दिल्ली में रहती हैं। अब पुलिस इनका पूरा नेटवर्क तलाशने में जुट गई है।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top