Uttarakhand News

उत्तराखंड में चारधाम यात्रा के साथ ही शुरू हो गई हेमकुंड यात्रा, पहुंचने लगे सैंकड़ों श्रद्धालु


उत्तराखंड में चारधाम यात्रा के साथ ही शुरू हो गई हेमकुंड यात्रा, पहुंचने लगे सैंकड़ों श्रद्धालु
Ad
Ad
Ad
Ad

रुद्रप्रयाग: चारधाम यात्रा के शुरू होने को लेकर हर प्रदेशवासी की नजर हाईकोर्ट के फैसले के ऊपर थी। बीते दिनों कोर्ट ने प्रदेश सरकार के पक्ष में फैसला सुनाकर चारधाम यात्रा को खोलने की बात कही। जिसके बाद मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद शनिवार सुबह से यात्रा को खोल दिया गया। श्रद्धालुओं का आना-जाना शुरू हो गया है। दूसरी तरफ, हेमकुंड यात्रा भी शुरू हो गई है।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट से एसएलपी वापिस लेने के बाद उत्तराखंड सरकार हाईकोर्ट में मामले को लेकर गई थी। सरकार का मानना था कि तीर्थ पुरोहितों से लेकर व्यापारियों व भक्तों को यात्रा ना होने से खासा निराशा हो रही है। साथ ही सरकार नहीं चाहती थी कि यात्रा में इससे ज्यादा देरी हो।

यह भी पढ़ें 👉  रक्षाबंधन: UP के इन शहरों में भी उत्तराखंड रोडवेज बहनों को देगा निशुल्क सेवा

शुक्रवार शाम को एसओपी जारी करने के बाद अब शनिवार सुबह से चारधाम यात्रा शुरू हो गई। केदारनाथ धाम के लिए सोनप्रयाग से केदारनाथ के लिए 352 तीर्थयात्री रवाना हुए। वहीं 100 से अधिक श्रद्धालुओं ने बदरीनाथ धाम में भगवान बदरी विशाल के दर्शन किए। उत्तरकाशी में भी कोविड गाइड लाइन के तहत गंगोत्री और यमुनोत्री की यात्रा शुरू हो गई।

यह भी पढ़ें 👉  बदल रहा है उत्तराखंड, आंगनवाड़ी बहनों को मिला तीलू रौतेली पुरस्कार

इसके साथ ही सुबह नौ बजे से हेमकुंड साहिब के कपाट खोले गए हैं। हेमकुंड यात्रा को भी शुरू कर दिया गया है। कपाट खुलने के दौरान 100 से अधिक श्रदालु मौजूद रहे। इस दौरान सभी श्रदालुओं ने पहली अरदास में भाग लिया। यात्रा की समाप्ति की तारीख़ ट्रस्ट की ओर से अभी निश्चित नहीं की गई है तथा मौसम को देखकर बाद में फ़ैसला लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड के 3 लाख से ज्यादा युवाओं झटका,UKSSSC ने 8 भर्ती परीक्षाओं को रोका

माना जा रहा है कि यात्रा को लंबे समय तक चलेगी। लेकिन यात्रियों को ऋषिकेश गुरुद्वारा में ट्रस्ट कार्यालय में पंजीकरण कराकर पास लेकर ही प्रस्थान करने की नसीहत दी गई है।

Join-WhatsApp-Group
To Top