Uttarakhand News

टेंशन मत लीजिए, उत्तराखंड में दस्तावेजों के बिना भी बनेंगे आपके वोटर कार्ड


टेंशन मत लीजिए, उत्तराखंड में दस्तावेजों के बिना भी बनेंगे आपके वोटर कार्ड
Ad
Ad

देहरादून: विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारियां शुरू हो गई हैं। तैयारियां सिर्फ राजनैतिक दलों द्वारा ही नहीं बल्कि आमजन व निर्वाचन आयोग द्वारा भी की जा रही हैं। वोटर कार्ड बनाने के लिए जागरुकता फैलाई जा रही है। इसी कड़ी में एक अहम बात सामने आई है। पिछले महीने आई आपदा में अगर किसी के दस्तावेज खो गए हैं तो टेंशन की बात नहीं है। आपका भी वोटर कार्ड बनाया जाएगा।

Ad
Ad

दरअसल भारत निर्वाचन आयोग की कोशिश है कि इस बार वोटिंग पहले से भी ज्यादा हो। जिसके लिए वोटर कार्ड बनाए जाने जरूरी हैं। राज्य की निर्वाचन मशीनरी को लक्ष्य प्राप्त हो चुका है। बता दें कि आयोग के उप निर्वाचन आयुक्त चन्द्रभूषण कुमार गुरुवार को एक दिनी दौरे पर दून पहुंचे। यहां उन्होंने हर स्तर पर तैयारियों का जायजा लिया।

उप निर्वाचन आयुक्त ने कहा कि पिछले दिनों आई आपदा में किसी नागरिक की वोटर आईडी नष्ट हो गई है तो ऐसे लोगों के लिए विशेष कैंप लगाए जाएं। जिसमें उन्हें बीएलओ के माध्यम से उन्हें फोटो आईडी फ्री दी जाएगी। साथ ही आयु प्रमाणित करने वाले अन्य दस्तावेज नष्ट होने की स्थिति में फार्म -6 के साथ माता, पिता या स्कूल द्वारा हस्ताक्षरित घोषणा पत्र भी स्वीकार्य होगा।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी नगर निगम का अभियान शुरू, प्लास्टिक इस्तेमाल पर लगेगा भारी जुर्माना, नियम जानें

गौरतलब है कि आपदा में कई लोगों का सामान इधर से उधर हो गया था। ऐसे में निर्वाचन आयोग द्वारा विशेष कैंप वाकई में फायदेमंद साबित होंगे। उर निर्वाचन आयुक्त ने इस दौरान ऐसे बूथ चिह्नित करने को कहा, जहां 18-19 आयु वर्ग के युवाओं-महिला वोटरों का पंजीकरण कम है। साथ ही वोटिंग फीसद को बढ़ाने के लिए जागरूकता अभियान चलाने को कहा। 

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top